Hamara Kasba I Hindi News I Bundelkhand News

देश मना रहा 76वां स्वतंत्रता दिवस, यहां लाइव देख सकते हैं पीएम मोदी का भाषण

ByNews Desk

Aug 14, 2022


ख़बर सुनें

देश आजादी के 75 वर्ष पूरे कर चुका है और आज अपना 76वां स्वतंत्रता दिवस (Swatantrata Diwas) मना रहा है। स्वतंत्रता दिवस के मौके पर भारत को न सिर्फ तिरंगे से सजाया जा रहा है, बल्कि दिल्ली से लेकर जम्मू कश्मीर तक सुरक्षा के चाक चौबंद इंतजाम किए गए हैं। दिल्ली में स्वतंत्रता दिवस का मुख्य कार्यक्रम होगा और यहां लाल किले के आसपास सुरक्षा व्यवस्था कड़ी की गई है। दिल्ली में लाल किले की प्राचीर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राष्ट्र को संबोधित करेंगे। दिल्ली पुलिस ने लाल किले के आसपास 10,000 से ज्यादा सुरक्षा कर्मियों को तैनात किया है। आइए जानते हैं स्वतंत्रता दिवस के प्रसारण और लाइव टेलीकॉस्ट से जुड़ी सारी जानकारी…

76वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लाल किले की प्राचीर से राष्ट्रीय ध्वज फहराएंगे और राष्ट्र को संबोधित करेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ये लगातार 9वां स्वतंत्रता दिवस संबोधन होगा। इस साल भारत की आजादी के 75 साल पूरे होने पर देश में ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ (Azadi Ka Amrit Mahotsav) मनाया जा रहा है।इसी कड़ी में सरकार ने ‘हर घर तिरंगा’ अभियान चलाया है।

पीएम मोदी के भाषण को रेडियो, टीवी और ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर सुना जा सकता है
15 अगस्त को प्रधानमंत्री मोदी सबसे पहले सुबह राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की समाधि राजघाट पर जाकर श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे। इसके बाद पीएम राजघाट से सीधे लाल किला जाएंगे। प्रधानमंत्री लाल किले की प्राचीर पर सुबह करीब 7.30 बजे तिरंगा झंडा फहराएंगे और देश को संबोधित करेंगे। स्वतंत्रता दिवस के दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण को रेडियो, टीवी और ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर सुना जा सकता है।

कहां देख सकते हैं लाइव स्ट्रीमिंग?

  • ऑल इंडिया रेडियो के राष्ट्रीय चैनल अंग्रेजी और हिंदी में पूरे समारोह की लाइव कमेंट्री करेंगे।
  • पीएम मोदी के भाषण को दूरदर्शन के राष्ट्रीय और क्षेत्रीय भाषा के चैनलों द्वारा सीधा प्रसारण किया जाएगा।
  • प्रेस सूचना ब्यूरो (PIB) भी भाषण को अपने YouTube चैनल के साथ-साथ अपने ट्विटर हैंडल पर लाइव-स्ट्रीम करेगा।
  • प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) के आधिकारिक यूट्यूब चैनल व ट्विटर हैंडल पर भी राष्ट्रीय संबोधन को प्रसारित किया जाएगा।
  • पीएम मोदी के भाषण और स्वतंत्रता दिवस की परेड को दूरदर्शन के अलावा संसद टीवी पर देखा जा सकता है।
  • इसके अलावा आप स्वतंत्रता दिवस से जुड़ी खबरें और लाइव अपडेट्स www.amarujala.com पर भी पढ़ सकते हैं।
लाल किले के आसपास सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम
लाल किले पर प्रवेश द्वारों पर चेहरे से पहचान करने वाली प्रणाली युक्त कैमरों से लेकर बहु स्तरीय सुरक्षा की व्यवस्था की गई है। साथ ही लाल किले के आसपास के इलाकों में इमारतों की छतों पर और संवेदनशील स्थानों पर 400 से ज्यादा पतंगबाजों और पतंग पकड़ने वालों को तैनात किया गया है। इसके अलावा लाल किले के पांच किलोमीटर के इलाके को समारोह समाप्त होने तक ‘नो काइट जोन‘ (पतंग उड़ाने पर रोक) क्षेत्र घोषित किया गया है।

दिल्ली में धारा 144 लागू, ड्रोन-रोधी प्रणाली भी स्थापित
विशेष पुलिस आयुक्त (कानून एवं व्यवस्था) दीपेंद्र पाठक ने बताया कि दिल्ली में दंड प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की धारा 144 पहले ही लगा दी गई है। पंद्रह अगस्त को लाल किले पर कार्यक्रम समाप्त होने तक कोई भी पतंग, गुब्बारा या चीनी कंदील उड़ाता हुआ पाया गया तो उसे दंडित किया जाएगा। पुलिस ने बताया कि रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) और अन्य सुरक्षा एजेंसियों की ड्रोन-रोधी प्रणाली भी स्थापित की गई है।

विस्तार

देश आजादी के 75 वर्ष पूरे कर चुका है और आज अपना 76वां स्वतंत्रता दिवस (Swatantrata Diwas) मना रहा है। स्वतंत्रता दिवस के मौके पर भारत को न सिर्फ तिरंगे से सजाया जा रहा है, बल्कि दिल्ली से लेकर जम्मू कश्मीर तक सुरक्षा के चाक चौबंद इंतजाम किए गए हैं। दिल्ली में स्वतंत्रता दिवस का मुख्य कार्यक्रम होगा और यहां लाल किले के आसपास सुरक्षा व्यवस्था कड़ी की गई है। दिल्ली में लाल किले की प्राचीर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राष्ट्र को संबोधित करेंगे। दिल्ली पुलिस ने लाल किले के आसपास 10,000 से ज्यादा सुरक्षा कर्मियों को तैनात किया है। आइए जानते हैं स्वतंत्रता दिवस के प्रसारण और लाइव टेलीकॉस्ट से जुड़ी सारी जानकारी…

76वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लाल किले की प्राचीर से राष्ट्रीय ध्वज फहराएंगे और राष्ट्र को संबोधित करेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ये लगातार 9वां स्वतंत्रता दिवस संबोधन होगा। इस साल भारत की आजादी के 75 साल पूरे होने पर देश में ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ (Azadi Ka Amrit Mahotsav) मनाया जा रहा है।इसी कड़ी में सरकार ने ‘हर घर तिरंगा’ अभियान चलाया है।

पीएम मोदी के भाषण को रेडियो, टीवी और ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर सुना जा सकता है

15 अगस्त को प्रधानमंत्री मोदी सबसे पहले सुबह राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की समाधि राजघाट पर जाकर श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे। इसके बाद पीएम राजघाट से सीधे लाल किला जाएंगे। प्रधानमंत्री लाल किले की प्राचीर पर सुबह करीब 7.30 बजे तिरंगा झंडा फहराएंगे और देश को संबोधित करेंगे। स्वतंत्रता दिवस के दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण को रेडियो, टीवी और ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर सुना जा सकता है।

कहां देख सकते हैं लाइव स्ट्रीमिंग?

  • ऑल इंडिया रेडियो के राष्ट्रीय चैनल अंग्रेजी और हिंदी में पूरे समारोह की लाइव कमेंट्री करेंगे।
  • पीएम मोदी के भाषण को दूरदर्शन के राष्ट्रीय और क्षेत्रीय भाषा के चैनलों द्वारा सीधा प्रसारण किया जाएगा।
  • प्रेस सूचना ब्यूरो (PIB) भी भाषण को अपने YouTube चैनल के साथ-साथ अपने ट्विटर हैंडल पर लाइव-स्ट्रीम करेगा।
  • प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) के आधिकारिक यूट्यूब चैनल व ट्विटर हैंडल पर भी राष्ट्रीय संबोधन को प्रसारित किया जाएगा।
  • पीएम मोदी के भाषण और स्वतंत्रता दिवस की परेड को दूरदर्शन के अलावा संसद टीवी पर देखा जा सकता है।
  • इसके अलावा आप स्वतंत्रता दिवस से जुड़ी खबरें और लाइव अपडेट्स www.amarujala.com पर भी पढ़ सकते हैं।

लाल किले के आसपास सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

लाल किले पर प्रवेश द्वारों पर चेहरे से पहचान करने वाली प्रणाली युक्त कैमरों से लेकर बहु स्तरीय सुरक्षा की व्यवस्था की गई है। साथ ही लाल किले के आसपास के इलाकों में इमारतों की छतों पर और संवेदनशील स्थानों पर 400 से ज्यादा पतंगबाजों और पतंग पकड़ने वालों को तैनात किया गया है। इसके अलावा लाल किले के पांच किलोमीटर के इलाके को समारोह समाप्त होने तक ‘नो काइट जोन‘ (पतंग उड़ाने पर रोक) क्षेत्र घोषित किया गया है।

दिल्ली में धारा 144 लागू, ड्रोन-रोधी प्रणाली भी स्थापित

विशेष पुलिस आयुक्त (कानून एवं व्यवस्था) दीपेंद्र पाठक ने बताया कि दिल्ली में दंड प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की धारा 144 पहले ही लगा दी गई है। पंद्रह अगस्त को लाल किले पर कार्यक्रम समाप्त होने तक कोई भी पतंग, गुब्बारा या चीनी कंदील उड़ाता हुआ पाया गया तो उसे दंडित किया जाएगा। पुलिस ने बताया कि रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) और अन्य सुरक्षा एजेंसियों की ड्रोन-रोधी प्रणाली भी स्थापित की गई है।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.