अंधविश्वास के आगे लाचार होता शासन एवं प्रशासन

by -252 views

भारत में आए दिन छोटी – छोटी बच्चियों के साथ हो रहा अंधविश्वास और अन्याय। और इसके साथ- साथ प्रशासन और लोगों की सोच पर भी आए दिन सवाल उठ रहे है।( girls rape in india )

ऐसे है एक मामला जनपद हमीरपुर के ग्राम चंडौत में बस स्टैंड से निशुल्क सेवा से दो बच्चियां स्कूल पढ़ने जा रही थी वहां दोनों बच्चियों को अकेला देखकर एक( भुर्जी ) जिसका नाम देवेंद्र भरमुज़ा था उसने उन दोनों बच्चियों को अकेला देखा और हैवानियत के तरीके से उन दोनों बच्चियों के साथ जबरन करने की कोशिश की। चीखते हुए उन दोनों बच्चियों ने आस पड़ोस वालों को इकट्ठा किया और उनके साथ हुई ज़बरदस्ती को उन बच्चियों ने रोते- रोते बयां किया।

प्रशासन की नासमझ

ऐसे है बहुत से मामले आए दिन हमारे भारत में आते है। पुलिस के द्वारा मामले में एफआईआर दर्ज़ की गई और ज़बरन करने वाले को गिरफ्तार भी किया गया है पुलिस ने इस मामले में कड़ी कारवाई की और तुरंत बच्चियों के साथ हुई ज़बरदस्ती करने वाले को गिरफ़्तार कर लिया गया। लेकिन ऐसे है बहुत से मामले में पुलिस की बेबसी भी देखी जाती है। आज भी बहुत सी ऐसे बच्चियां और लड़कियों को इन्साफ ना मिल सका , इस मामले में लोगों की सोच पर भी बहुत सवाल उठ रहे है लोगों की सोच के साथ – साथ शासन – प्रशासन पर भी सवाल उठ रहे है लोगों का सोचना ये है कि आखिर कब ये हैवानियत खत्म होगी। प्रशासन भी इस हरकतों पर कब और कैसे रोक लगा पाएगी। लड़कियां जिनका ये सोचना है कि आखिर उन्हें इन्साफ कब मिलेगा या फिर कहीं उनके साथ अंधविश्वास तो नहीं हो रहा ( rape cases in india )

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *