PM आवास योजना में हो रही धांधली , गरीबों के नाम पर हो रही है लूट

by -280 views
up news , hamirpur news

भारत के प्रधानमंत्री माननीय नरेंद्र मोदी जी का सपना है कि हर गरीब से गरीब को एक एक रहने का आवास मुहैया कराए। प्रधानमंत्री जी का ये सपना तभी पूरा हो पाएगा जब यहाँ का स्थानीय प्रशासन अच्छे से दमभरकर काम करे। उत्तर प्रदेश के जिला हमीरपुर का मामला महज़ एक अच्छा उदहारण है , अगर पूरे प्रदेश में इसकी जांच कराइ जाए तो इसका सच हमारे सामने आ जाएगा।

हमीरपुर – यूपी में प्रधानमंत्री आवास योजना के नाम पर कुछ बड़ी बातों का खुलासा हुआ है , जिला हमीरपुर से कुछ ऐसी खबर सामने आई है कि वहां के रसूखदारों ने अपने ख़ास लोगों को इन सबका लाभ पहुंचाया। हमारा क़स्बा के हाथ कुछ ऐसे दस्तावेज़ लगे है जिनसे यह पता चलता है कि पूरे प्रदेश में प्रधानमंत्री ग्रामीण के आवास फण्ड से सभी को बड़ी रकम का लाभ हुआ है। सच तो ये है कि गरीब आदमी तो अभी भी दर – दर की ठोकर खा रहा है। आवास चाहिए हो तो पहले अधिकारियों और कर्मचारियों का पेट भरिये। दस्तावेज़ के मुताबिक़ उत्तर प्रदेश के जिला हमीरपुर में एक गांव चंडौत है पूरे हमीरपुर की आबादी कम से कम 70 हज़ार है। गांव के लोगों को आस लगी है की उन्हें रहने के लिए प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ मिलेगा। लेकिन गांव वालों के सामने जब लिस्ट लगी तो वो चौक गए।

प्रधान और बीडीओ की तैयार की लिस्ट में उन लोगों के नाम दर्ज़ है जिनके पास रहने के लिए पहले से मकान है। जिनके पास पहले से मकान है उनको फण्ड भी ज़ारी कर दिया गया। गांव वालों ने बताया कि हमारा नाम लिस्ट में नहीं है क्यूंकि ‘हम घूस नहीं दे सकते’ । ये दिक्कत एक की नहीं बल्कि सभी गरीबों की है। इस बात की शिकायत जब बड़े नेताओं से की गई तो बीजेपी ने ये पूरी योजना सपा सरकार की बताई और ये बताया कि इसे एनडीए सरकार लांच कर रही है। लेकिन समाजवादी ने इसे खारिज कर दिया और योगी सरकार से इस धांधली को लेकर इस्तीफा माँगा है। लोग फण्ड की आस में है लेकिन स्थानीय निकाय का साफ़ शब्द में कहना है कि जिनका नाम लिस्ट में है सिर्फ उनको ही फण्ड मिलेगा।

हमारा क़स्बा ने इस मामले की पड़ताल शुरू की तो प्रशासन हरकत में आया। इस धांधली के खिलाफ पड़ताल शुरू की और ऍफ़आईआर दर्ज़ हुई , इसके बाद 1500 लोगों ने फण्ड लौटा दिया। ग्रामीण विकास मंत्री ने इसकी छानबीन शुरू की ताकि आरोपियों को सजा मिल सके। इसके बाद गांव के लोगों में आस जगी है की उनका भी अपना एक मकान होगा।(fraud in pradhanmantri awaas yojna)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *