Hamara Kasba I Hindi News I Bundelkhand News

बांदा : अलर्ट… केन नदी खतरे के निशान से डेढ़ मीटर पार, यमुना दो मीटर नीचे, गांवों में घुसने लगा पानी

ByNews Desk

Aug 25, 2022


ख़बर सुनें

बांदा। मध्य प्रदेश की घाटियों में दो दिन से हो रही बारिश से बांध और नदियां उफना गईं हैं। बरियारपुर बांध की क्रस्टवाल के ऊपर करीब 15 फीट पानी की मोटी धारा केन नदी में गिर रही है। इससे केन नदी खतरे का निशान लगभग डेढ़ मीटर पार कर गई। यहां खतरे का निशान 104 मीटर है। मंगलवार की शाम केन 105.45 मीटर के पैमाने पर पहुंच गई।
उधर, केन और यमुना नदियों के किनारे आबाद दर्जनभर गांवों के भीतर बाढ़ का पानी घुसने लगा है। गांवों का मार्गों से संपर्क कट रहा है। वहीं, डीएम अनुराग पटेल ने सभी एसडीएम के साथ बैठक कर हालात की जानकारी ली। दोपहर बाद खप्टिहा कलां क्षेत्र के कई इलाकों का जायजा लिया।
केंद्रीय जल आयोग के मुताबिक, केन नदी छह सेंटीमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से बढ़ रही है। इसी तरह यमुना नदी का जलस्तर भी 7-8 सेंटीमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से बढ़ रहा है। यहां खतरे का निशान 100 मीटर है और नदी का पैमाना 98.04 मीटर हो गया है। उधर, सिंचाई विभाग तृतीय अवर अभियंता धीरेंद्र कुमार ने बताया कि बरियारपुर का लेवल 607 फीट है। 622.2 फीट ऊपर पानी पहुंच गया है। लगभग 3,61,592 क्यूसेक पानी केन नदी में डिस्चार्ज हो रहा है। वहीं, गंगऊ बांध से 3,36,546 क्यूसेक पानी केन नदी में आ रहा है।

बांदा। मध्य प्रदेश की घाटियों में दो दिन से हो रही बारिश से बांध और नदियां उफना गईं हैं। बरियारपुर बांध की क्रस्टवाल के ऊपर करीब 15 फीट पानी की मोटी धारा केन नदी में गिर रही है। इससे केन नदी खतरे का निशान लगभग डेढ़ मीटर पार कर गई। यहां खतरे का निशान 104 मीटर है। मंगलवार की शाम केन 105.45 मीटर के पैमाने पर पहुंच गई।

उधर, केन और यमुना नदियों के किनारे आबाद दर्जनभर गांवों के भीतर बाढ़ का पानी घुसने लगा है। गांवों का मार्गों से संपर्क कट रहा है। वहीं, डीएम अनुराग पटेल ने सभी एसडीएम के साथ बैठक कर हालात की जानकारी ली। दोपहर बाद खप्टिहा कलां क्षेत्र के कई इलाकों का जायजा लिया।

केंद्रीय जल आयोग के मुताबिक, केन नदी छह सेंटीमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से बढ़ रही है। इसी तरह यमुना नदी का जलस्तर भी 7-8 सेंटीमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से बढ़ रहा है। यहां खतरे का निशान 100 मीटर है और नदी का पैमाना 98.04 मीटर हो गया है। उधर, सिंचाई विभाग तृतीय अवर अभियंता धीरेंद्र कुमार ने बताया कि बरियारपुर का लेवल 607 फीट है। 622.2 फीट ऊपर पानी पहुंच गया है। लगभग 3,61,592 क्यूसेक पानी केन नदी में डिस्चार्ज हो रहा है। वहीं, गंगऊ बांध से 3,36,546 क्यूसेक पानी केन नदी में आ रहा है।



Source link