गहरी नींद में थी पत्नी…नवजात को मरा समझ पिता ने किया ये काम, जानकर हो जाएंगे आप भी हैरान


ख़बर सुनें

बांदा जिले के नरैनी क्षेत्र में एक हफ्ते के नवजात शिशु को उसके पिता ने ही जिंदा जल समाधि दे दी। घटना की जानकारी होते ही ग्रामीणों में हड़कंप मच गया। मौके पर पहुंची पुलिस ने आरोपी पिता द्वारा नवजात का शव बरामद कर लिया है। पुलिस का कहना है कि आरोपी ने बताया कि बच्चे को मरा समझकर दफना आया था। पुलिस घटना के अन्य कारणों का पता लगाने में जुटी है।

कोतवाली क्षेत्र के सराय जदीद गांव में सुबह करीब 5 बजे तमाम लोग जलालुद्दीन के दरवाजे पर इकठ्ठा हो गए थे। जलालुद्दीन की पत्नी मैना अपने सात दिन पहले पैदा हुए नवजात शिशु को घर में तलाश कर थक गई थी। इस लिए मोहल्ला के लोगों को इकठ्ठा कर लिया था। ग्रामीणों ने पिता से सवाल किए तो जवाब नहीं दे रहा था।

इसलिए ग्रामीणों ने कोतवाली पुलिस को फोन कर सूचना दे दी। कोतवाली से पहुंची पुलिस द्वारा कड़ाई से पूछताछ करने पर आरोपी पिता ने बच्चे को खेतों में बह रही नाली में फेंकने की बात कही। पुलिस ने घर से करीब 300 मीटर दूर अताहुसेन के खेत से बह रही नाली से आरोपी पिता की जानकारी पर बच्चे को निकाल लिया।

पुलिस नवजात को लेकर सीएचसी पहुंची, यहां चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया। नवजात शिशु ( लड़का) था। मां मैना ने बताया कि सोमवार रात उसके बेटे को बुखार था। पति जलालुद्दीन से इलाज के लिए कहा था, लेकिन नहीं ले गया। बाद में वह सो गई। बताया कि सुबह जब उसकी नींद खुली तो बच्चा गायब था।  

पति से बच्चे के बारे में पूछा तो पति ने कोई जवाब नहीं दिया। इसलिए उसने मोहल्ला के लोगों को बुला लिया और अपने बच्चे के बारे में गांव वालों को बताया। गांव के सारे लोग इकट्ठे हो गए। जलालुद्दीन मजदूरी करता है। जिसके दो पुत्र व एक पुत्री है। गांव वालों के मुताबिक यह पति, पत्नी मानसिक रूप से विक्षिप्त हैं।

आरोपी पिता ने पुलिस को बताया कि पहले उसके बेटे को बुखार के कारण शरीर गर्म था बाद में तड़के शरीर ठंडा हो गया था। उसे लगा कि बेटे की मौत हो गई है। इसलिए वह बगैर किसी को बताए तड़के बच्चे को खेतों में बह रही नाली में दबा आया था। कोतवाली प्रभारी निरीक्षक मनोज शुक्ला ने बताया कि बच्चे का पोस्टमार्टम होने के बाद यह स्पष्ट हो सकेगा कि पिता द्वारा इसे मरने के बाद पानी में डाला गया है या पानी में फेंकने के बाद इसकी मृत्यु हुई है। अभी आरोपी पिता और मृतक शिशु की मां से पूरी जानकारी ली जा रही है। पीएम रिपोर्ट मिलने या आरोपी द्वारा अपराध स्वीकार करने के बाद कार्रवाई की जाएगी। घटना से पूरे गांव में आरोपी के प्रति गुस्से का माहौल बना है।

विस्तार

बांदा जिले के नरैनी क्षेत्र में एक हफ्ते के नवजात शिशु को उसके पिता ने ही जिंदा जल समाधि दे दी। घटना की जानकारी होते ही ग्रामीणों में हड़कंप मच गया। मौके पर पहुंची पुलिस ने आरोपी पिता द्वारा नवजात का शव बरामद कर लिया है। पुलिस का कहना है कि आरोपी ने बताया कि बच्चे को मरा समझकर दफना आया था। पुलिस घटना के अन्य कारणों का पता लगाने में जुटी है।

कोतवाली क्षेत्र के सराय जदीद गांव में सुबह करीब 5 बजे तमाम लोग जलालुद्दीन के दरवाजे पर इकठ्ठा हो गए थे। जलालुद्दीन की पत्नी मैना अपने सात दिन पहले पैदा हुए नवजात शिशु को घर में तलाश कर थक गई थी। इस लिए मोहल्ला के लोगों को इकठ्ठा कर लिया था। ग्रामीणों ने पिता से सवाल किए तो जवाब नहीं दे रहा था।

इसलिए ग्रामीणों ने कोतवाली पुलिस को फोन कर सूचना दे दी। कोतवाली से पहुंची पुलिस द्वारा कड़ाई से पूछताछ करने पर आरोपी पिता ने बच्चे को खेतों में बह रही नाली में फेंकने की बात कही। पुलिस ने घर से करीब 300 मीटर दूर अताहुसेन के खेत से बह रही नाली से आरोपी पिता की जानकारी पर बच्चे को निकाल लिया।



Source link