बांदा: मंत्री के सामने फूटा लापता लोगों के परिजनों का गुस्सा, अफसरों पर लापरवाही का आरोप लगाकर किया हंगामा


ख़बर सुनें

बबेरू/मर्का। लापता लोगों के न मिलने पर परिजनों को गुस्सा मंत्री के सामने फूट पड़ा। अफसरों पर लापरवाही का आरोप लगाया।
बांदा और फतेहपुर जिले के रहने वाले लापता लोगों की जानकारी के लिए परिजन शुक्रवार को यमुना नदी किनारे डटे रहे। तीन-तीन टीमों में बंटकर एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीमें मोटर बोट से नदी में ढूंढने निकलीं और कुछ देर बाद खाली हाथ लौट आईं। इससे वहां इकट्ठा परिजन भड़क गए। हंगामा शुरू कर दिया। लापता लोगों की खोज में प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगाया। कहा कि जाल आदि नहीं डलवाए जा रहे हैं। मर्का समेत कई थानों का पुलिस फोर्स पहुंच गया। पुलिस अधिकारियों ने समझाने की कोशिश की, लेकिन परिजन नहीं माने।
कुछ देर बाद प्रदेश के कैबिनेट मंत्री राकेश सचान और जल शक्ति राज्यमंत्री रामकेश निषाद भी पहुंच गए। परिजनों और ग्रामीणों ने नारे लगाने शुरू कर दिए। दोनों मंत्रियों ने उन्हें समझाया और मुख्यमंत्री की घोषणा के बारे में जानकारी दी। बताया कि मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख रुपये की मदद दी जाएगी। साथ ही भरोसा दिलाया कि लापरवाही करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उनके साथ जिला पंचायत अध्यक्ष सुनील सिंह पटेल, डीएम अनुराग पटेल, एसपी अभिनंदन और भाजपा जिला संयोजक संजय सिंह आदि शामिल रहे।

बबेरू/मर्का। लापता लोगों के न मिलने पर परिजनों को गुस्सा मंत्री के सामने फूट पड़ा। अफसरों पर लापरवाही का आरोप लगाया।

बांदा और फतेहपुर जिले के रहने वाले लापता लोगों की जानकारी के लिए परिजन शुक्रवार को यमुना नदी किनारे डटे रहे। तीन-तीन टीमों में बंटकर एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीमें मोटर बोट से नदी में ढूंढने निकलीं और कुछ देर बाद खाली हाथ लौट आईं। इससे वहां इकट्ठा परिजन भड़क गए। हंगामा शुरू कर दिया। लापता लोगों की खोज में प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगाया। कहा कि जाल आदि नहीं डलवाए जा रहे हैं। मर्का समेत कई थानों का पुलिस फोर्स पहुंच गया। पुलिस अधिकारियों ने समझाने की कोशिश की, लेकिन परिजन नहीं माने।

कुछ देर बाद प्रदेश के कैबिनेट मंत्री राकेश सचान और जल शक्ति राज्यमंत्री रामकेश निषाद भी पहुंच गए। परिजनों और ग्रामीणों ने नारे लगाने शुरू कर दिए। दोनों मंत्रियों ने उन्हें समझाया और मुख्यमंत्री की घोषणा के बारे में जानकारी दी। बताया कि मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख रुपये की मदद दी जाएगी। साथ ही भरोसा दिलाया कि लापरवाही करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उनके साथ जिला पंचायत अध्यक्ष सुनील सिंह पटेल, डीएम अनुराग पटेल, एसपी अभिनंदन और भाजपा जिला संयोजक संजय सिंह आदि शामिल रहे।



Source link