डिप्थीरिया लक्षण पर बालक को अस्पताल में भर्ती कराया


ख़बर सुनें

बांदा। शहर मुख्यालय से करीब छह किलोमीटर दूर त्रिवेणी गांव में डिप्थीरिया संदिग्ध मरीजों के मिलने का सिलसिला थम नहीं रहा। गुरुवार को सुबह लक्षण प्रतीत होने पर पांच वर्षीय बच्चे को जिला अस्पताल में भर्ती किया गया है। इस गांव में डिप्थीरिया से अब तक चार बच्चों की मौत हो चुकी है।
त्रिवेणी गांव निवासी राजन के पुत्र आर्यन (5) की गुरुवार को सुबह हालत बिगड़ गई। घरवालों ने उसे जिला अस्पताल पहुंचाया। डिप्थीरिया के लक्षण प्रतीत होने पर उसे अस्पताल में बने अलग वार्ड में भर्ती कराया गया है। उसका स्वॉब नमूना भी जांच के लिए लखनऊ भेजा जाना है।
इस गांव में डिप्थीरिया से अब तक चार बच्चों की मौत हो चुकी है। इस मर्ज ग्रसित 10 बच्चों का इलाज हुआ। हालांकि अभी तक मात्र छह लोगों की ही जांच रिपोर्ट आ सकी।
उधर, बुखार से गंभीर हालत में पहुंच गए तीन बालकों को भी अस्पताल पहुंचाया गया। इनमें महोखर गांव निवासी गोकुल के पुत्र धर्मेंद्र (10), जमालपुर गांव निवासी अंबिका के पुत्र आर्युष (11) और खुटला निवासी धर्मेंद्र के पुत्र हर्षित (8) शामिल हैं। घरवालों ने बताया कि दो दिनों से बुखार आ रहा था। गले में दर्द की शिकायत होने लगी। डिप्थीरिया की आशंका पर अस्पताल लाकर भर्ती कराया।

बांदा। शहर मुख्यालय से करीब छह किलोमीटर दूर त्रिवेणी गांव में डिप्थीरिया संदिग्ध मरीजों के मिलने का सिलसिला थम नहीं रहा। गुरुवार को सुबह लक्षण प्रतीत होने पर पांच वर्षीय बच्चे को जिला अस्पताल में भर्ती किया गया है। इस गांव में डिप्थीरिया से अब तक चार बच्चों की मौत हो चुकी है।

त्रिवेणी गांव निवासी राजन के पुत्र आर्यन (5) की गुरुवार को सुबह हालत बिगड़ गई। घरवालों ने उसे जिला अस्पताल पहुंचाया। डिप्थीरिया के लक्षण प्रतीत होने पर उसे अस्पताल में बने अलग वार्ड में भर्ती कराया गया है। उसका स्वॉब नमूना भी जांच के लिए लखनऊ भेजा जाना है।

इस गांव में डिप्थीरिया से अब तक चार बच्चों की मौत हो चुकी है। इस मर्ज ग्रसित 10 बच्चों का इलाज हुआ। हालांकि अभी तक मात्र छह लोगों की ही जांच रिपोर्ट आ सकी।

उधर, बुखार से गंभीर हालत में पहुंच गए तीन बालकों को भी अस्पताल पहुंचाया गया। इनमें महोखर गांव निवासी गोकुल के पुत्र धर्मेंद्र (10), जमालपुर गांव निवासी अंबिका के पुत्र आर्युष (11) और खुटला निवासी धर्मेंद्र के पुत्र हर्षित (8) शामिल हैं। घरवालों ने बताया कि दो दिनों से बुखार आ रहा था। गले में दर्द की शिकायत होने लगी। डिप्थीरिया की आशंका पर अस्पताल लाकर भर्ती कराया।



Source link