Hamara Kasba I Hindi News I Bundelkhand News

प्रयागराज : राजधानी एक्सप्रेस को डीरेल करने की साजिश नाकाम, ट्रैक पर रख दी गई थी बाइक

ByNews Desk

Aug 25, 2022


ख़बर सुनें

भुवनेश्वर से दिल्ली जा रही राजधानी एक्सप्रेस बुधवार की रात हादसे का शिकार होने से बच गई। प्रयागराज मंडल के ऊंचडीह-मेजा रोड के बीच अप लाइन पर किसी ने बाइक खड़ी कर दी। राहत भरी बात यह रही कि डाउन लाइन पर आ रही संघमित्रा एक्सप्रेस के ड्राइवर ने ट्रैक पर बाइक देख ली। कंट्रोल रूम पर सूचना देने के  बाद वहां आरपीएफ ने बाइक हटाई। इस दौरान आरपीएफ प्रयागराज छिवकी ने अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है।

बीती रात दो बजे के आसपास दानापुर जा रही गाड़ी संख्या 12295 संघमित्रा के ड्राइवर ने अप लाइन पर बाइक खड़ी देखी। ड्राइवर ने बिना देर किए इसकी सूचना कंट्रोल रूम को दी। उसी दौरान डाउन लाइन से 22811 भुवनेश्वर राजधानी को गुजरना था। गनीमत यह रही समय रहतेे  कंट्रोल रूम को इसकी सूचना मिल गई। अन्यथा ट्रैक पर खड़ी बाइक से राजधानी जरूर टकरा जाती। 

उधर कंट्रोल से सूचना मिलने के बाद  किमी संख्या 784/11-13 से पहले भुवनेश्वर राजधानी को रोक दिया गया। उसमें एस्कार्ट कर रहे आरपीएफ जवानों ने रेल ट्रैक से बाइक को हटा दिया। इस दौरान रात  2.06 बजे से 2.25 बजे तक राजधानी खड़ी  रही। लाइन क्लीयर होने के बाद ही उसे प्रयागराज जंक्शन की ओर रवाना किया गया। इस बारे में जोन के सीनियर पीआरओ डॉ. अमित मालवीय  का कहना है कि आरपीएफ ने प्रयागराज  छिवकी में अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। इस वाकये  से रेल संचालन पर असर नहीं पड़ा है। बाकी जांच चल रही है।

विस्तार

भुवनेश्वर से दिल्ली जा रही राजधानी एक्सप्रेस बुधवार की रात हादसे का शिकार होने से बच गई। प्रयागराज मंडल के ऊंचडीह-मेजा रोड के बीच अप लाइन पर किसी ने बाइक खड़ी कर दी। राहत भरी बात यह रही कि डाउन लाइन पर आ रही संघमित्रा एक्सप्रेस के ड्राइवर ने ट्रैक पर बाइक देख ली। कंट्रोल रूम पर सूचना देने के  बाद वहां आरपीएफ ने बाइक हटाई। इस दौरान आरपीएफ प्रयागराज छिवकी ने अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है।

बीती रात दो बजे के आसपास दानापुर जा रही गाड़ी संख्या 12295 संघमित्रा के ड्राइवर ने अप लाइन पर बाइक खड़ी देखी। ड्राइवर ने बिना देर किए इसकी सूचना कंट्रोल रूम को दी। उसी दौरान डाउन लाइन से 22811 भुवनेश्वर राजधानी को गुजरना था। गनीमत यह रही समय रहतेे  कंट्रोल रूम को इसकी सूचना मिल गई। अन्यथा ट्रैक पर खड़ी बाइक से राजधानी जरूर टकरा जाती। 



Source link