Hamara Kasba I Hindi News I Bundelkhand News

चीन ने दोहराया, ताइवान पर कब्जे के लिए करेगा सैन्य बल का इस्तेमाल

ByNews Desk

Aug 10, 2022


ख़बर सुनें

China Taiwan Conflict : चीन ने बुधवार को ताइवान पर सवाल और एक नए युग में चीन का पुनर्मिलन शीर्षक से एक श्वेतपत्र जारी किया। इसमें उसने दोहराया कि इस द्वीप पर उसका दावा सही है। चीन ने ताइवान में अलगाववादी गतिविधियों के लिए शून्य सहिष्णुता नीति अपनाने का एलान भी किया। उसने यह भी कहा कि वह इस द्वीप पर फिर से कब्जा करेगा, भले ही इसके लिए बल प्रयोग क्यों न करना पड़े। 

इसी के साथ चीन ने सैन्य अभ्यास खत्म कर दिया। चीन की सरकारी परिषद के ताइवान मामलों के कार्यालय और पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चायना के स्टेट काउंसिल इंफोर्मेशन कार्यालय ने अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की स्पीकर नैंसी पेलोसी की ताइवान यात्रा के बाद यह श्वेतपत्र प्रकाशित किया। इससे ताइवान स्ट्रेट में तनाव पैदा हो गया है। 

यह श्वेतपत्र इस तथ्य को दोहराने के लिए जारी किया गया कि ताइवान चीन का हिस्सा है और चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के संकल्प तथा राष्ट्रीय पुनर्मिलन के प्रति उसकी प्रतिबद्धता पहले जैसी है। श्वेतपत्र में कहा गया कि ताइवान प्राचीन काल से ही चीन का है और इतिहास में इसके ठोस आधार हैं। यह चेतावनी तब आई है जब चीन ने ताइवान को 6 तरफ से घेरकर सैन्य अभ्यास किया और क्षेत्र में तनाव बढ़ाया।

2000 में भी जारी कर चुका है श्वेतपत्र
चीन ने अपने श्वेतपत्र में कहा कि हम सख्त कदम उठाने के लिए तभी मजबूर होंगे जब अलगाववादी तत्व या बाहरी ताकतें हमारी लक्ष्मण रेखा को लांघेंगे। चीन ने पिछली बार 2000 में भी ताइवान पर श्वेतपत्र जारी किया था। जबकि 1990 से ही ताइवान में एक अलग ताइवानी पहचान ने जन्म लिया है। 2016 में साई इंग-वेन के राष्ट्रपति बनने के बाद दोनों पक्षों के रिश्तों में काफी खटास आई है। साई ने देश को लोकतांत्रिक पहचान दिलाई है।

अंतिम लक्ष्य तक पुनर्मिलन सुनिश्चित करेंगे
चीन ने कहा, हमारा अंतिम लक्ष्य चीन के शांतिपूर्ण पुनर्मिलन की संभावनाओं को सुनिश्चित करना और इस प्रक्रिया को आगे बढ़ाना है। चीन ने दोहराया कि वह अमेरिका, ताइवान के प्रमुख सैन्य और राजनीतिक समर्थक के साथ समुद्री सुरक्षा से लेकर जलवायु परिवर्तन तक के मुद्दों पर बातचीत बंद कर रहा है।

अभ्यास समाप्ति की घोषणा के बाद भी तनाव
चीन ने बुधवार को ताइवान के पास एक सप्ताह तक चले सैन्य अभ्यास को खत्म करने की घोषणा कर दी है। हालांकि उसके श्वेतपत्र से क्षेत्र में तनाव कम नहीं हुआ है। फिर भी फिलहाल कुछ राहत मिली है। चीन के सरकारी मुखपत्र ग्लोबल टाइम्स ने ईस्टर्न थिएटर कमांड के हवाले से बताया कि हालिया अभ्यास में विभिन्न मिशनों को सफलतापूर्वक पूरा किया गया है। यह कमान ताइवान स्ट्रेट में नियमित रूपसे लड़ाकू गश्ती का आयोजन करेगी। 

विस्तार

China Taiwan Conflict : चीन ने बुधवार को ताइवान पर सवाल और एक नए युग में चीन का पुनर्मिलन शीर्षक से एक श्वेतपत्र जारी किया। इसमें उसने दोहराया कि इस द्वीप पर उसका दावा सही है। चीन ने ताइवान में अलगाववादी गतिविधियों के लिए शून्य सहिष्णुता नीति अपनाने का एलान भी किया। उसने यह भी कहा कि वह इस द्वीप पर फिर से कब्जा करेगा, भले ही इसके लिए बल प्रयोग क्यों न करना पड़े। 

इसी के साथ चीन ने सैन्य अभ्यास खत्म कर दिया। चीन की सरकारी परिषद के ताइवान मामलों के कार्यालय और पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चायना के स्टेट काउंसिल इंफोर्मेशन कार्यालय ने अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की स्पीकर नैंसी पेलोसी की ताइवान यात्रा के बाद यह श्वेतपत्र प्रकाशित किया। इससे ताइवान स्ट्रेट में तनाव पैदा हो गया है। 

यह श्वेतपत्र इस तथ्य को दोहराने के लिए जारी किया गया कि ताइवान चीन का हिस्सा है और चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के संकल्प तथा राष्ट्रीय पुनर्मिलन के प्रति उसकी प्रतिबद्धता पहले जैसी है। श्वेतपत्र में कहा गया कि ताइवान प्राचीन काल से ही चीन का है और इतिहास में इसके ठोस आधार हैं। यह चेतावनी तब आई है जब चीन ने ताइवान को 6 तरफ से घेरकर सैन्य अभ्यास किया और क्षेत्र में तनाव बढ़ाया।

2000 में भी जारी कर चुका है श्वेतपत्र

चीन ने अपने श्वेतपत्र में कहा कि हम सख्त कदम उठाने के लिए तभी मजबूर होंगे जब अलगाववादी तत्व या बाहरी ताकतें हमारी लक्ष्मण रेखा को लांघेंगे। चीन ने पिछली बार 2000 में भी ताइवान पर श्वेतपत्र जारी किया था। जबकि 1990 से ही ताइवान में एक अलग ताइवानी पहचान ने जन्म लिया है। 2016 में साई इंग-वेन के राष्ट्रपति बनने के बाद दोनों पक्षों के रिश्तों में काफी खटास आई है। साई ने देश को लोकतांत्रिक पहचान दिलाई है।

अंतिम लक्ष्य तक पुनर्मिलन सुनिश्चित करेंगे

चीन ने कहा, हमारा अंतिम लक्ष्य चीन के शांतिपूर्ण पुनर्मिलन की संभावनाओं को सुनिश्चित करना और इस प्रक्रिया को आगे बढ़ाना है। चीन ने दोहराया कि वह अमेरिका, ताइवान के प्रमुख सैन्य और राजनीतिक समर्थक के साथ समुद्री सुरक्षा से लेकर जलवायु परिवर्तन तक के मुद्दों पर बातचीत बंद कर रहा है।

अभ्यास समाप्ति की घोषणा के बाद भी तनाव

चीन ने बुधवार को ताइवान के पास एक सप्ताह तक चले सैन्य अभ्यास को खत्म करने की घोषणा कर दी है। हालांकि उसके श्वेतपत्र से क्षेत्र में तनाव कम नहीं हुआ है। फिर भी फिलहाल कुछ राहत मिली है। चीन के सरकारी मुखपत्र ग्लोबल टाइम्स ने ईस्टर्न थिएटर कमांड के हवाले से बताया कि हालिया अभ्यास में विभिन्न मिशनों को सफलतापूर्वक पूरा किया गया है। यह कमान ताइवान स्ट्रेट में नियमित रूपसे लड़ाकू गश्ती का आयोजन करेगी। 



Source link