बारहवीं की छात्रा ने फंदा लगाकर जान दी


ख़बर सुनें

उरई। किशोरी ने फंदा लगाकर जान दे दी। परिजनों ने जब उसके शव को फंदे पर लटका देखा तो घर में कोहराम मच गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को फंदे से उतरवाकर जांच पड़ताल के बाद पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।
शहर कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला उमरारखेड़ा निवासी कढ़ोरे अहिरवार की 12वीं पढ़ने वाली 17 वर्षीय पुत्री विनीता ने मंगलवार की सुबह घर के कमरे में दुपट्टे से फंदा लगाकर जान दे दी। परिजनों ने जब उसके शव को देखा तो चीखपुकार मच गई। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लिया। परिजनों ने पुलिस को बताया कि वह शहर स्थित सरकारी इंटर कालेज में पढ़ती थी। पांच बहनों और दो भाई में छठवें नंबर की थी। पिता राजमिस्त्री का काम कर परिवार का भरण पोषण करते है। मां गिरजादेवी सहित अन्य परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। शहर कोतवाल शिवकुमार सिंह का कहना है कि परिजन मौत की कोई वजह नहीं बता पा रहे है। मामले की जांच की जा रही है।

उरई। किशोरी ने फंदा लगाकर जान दे दी। परिजनों ने जब उसके शव को फंदे पर लटका देखा तो घर में कोहराम मच गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को फंदे से उतरवाकर जांच पड़ताल के बाद पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

शहर कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला उमरारखेड़ा निवासी कढ़ोरे अहिरवार की 12वीं पढ़ने वाली 17 वर्षीय पुत्री विनीता ने मंगलवार की सुबह घर के कमरे में दुपट्टे से फंदा लगाकर जान दे दी। परिजनों ने जब उसके शव को देखा तो चीखपुकार मच गई। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लिया। परिजनों ने पुलिस को बताया कि वह शहर स्थित सरकारी इंटर कालेज में पढ़ती थी। पांच बहनों और दो भाई में छठवें नंबर की थी। पिता राजमिस्त्री का काम कर परिवार का भरण पोषण करते है। मां गिरजादेवी सहित अन्य परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। शहर कोतवाल शिवकुमार सिंह का कहना है कि परिजन मौत की कोई वजह नहीं बता पा रहे है। मामले की जांच की जा रही है।



Source link