शूटिंग न होने के बावजूद भारत ने 61 पदक जीते, लॉन बॉल और एथलेटिक्स सहित इन खेलों के पदक ने चौंकाया


ख़बर सुनें

राष्ट्रमंडल खेल 2022 का समापन हो चुका है। इस बार भारत को कुल 61 पदक मिले हैं। इनमें 22 स्वर्ण, 16 रजत और 23 कांस्य पदक शामिल हैं। 2018 राष्ट्रमंडल खेलों की तुलना में इस बार भारत ने पांच पदक कम जीते हैं, लेकिन इस बार शूटिंग को शामिल नहीं किया गया था। इसके बावजूद भारत ने शानदार प्रदर्शन किया है। लॉन बॉल और एथलेटिक्स सहित कई खेलों में हमें ऐतिहासिक सफलता मिली।

शूटिंग में कैसा रहा है भारत का प्रदर्शन
शूटिंग में भारत का प्रदर्शन शानदार रहा है। राष्ट्रमंडल खेलों में देश को इस खेल में अब तक 135 पदक जीते हैं। इसमें 63 स्वर्ण, 44 रजत और 28 कांस्य शामिल है। इस खेल में पदक जीतने के मामले में भारत दूसरे स्थान पर है। उससे आगे सिर्फ ऑस्ट्रेलिया है। ऑस्ट्रेलिया ने 70 स्वर्ण, 59 रजत और 42 कांस्य सहित कुल 171 पदक जीते हैं।

शूटिंग को 1966 में पहली बार राष्ट्रमंडल खेलों में शामिल किया गया था। भारत को पहली बार 1982 में शूटिंग में पदक मिला था। तब 25 मीटर सेंटर फायर पिस्टल (डबल्स) में मोहिंदर लाल और अशोक पंडिल ने रजत पदक जीता था। वहीं, शरद और आर विजय ने 25 मीटर रैपिड फायर पिस्टल (डबल्स) में कांस्य जीता था। 25 मीटर सेंटर फायर पिस्टल स्पर्धा में 1990 में पहला स्वर्ण मिला था। तब अशोक पंडित ने स्वर्णिम निशाना लगाया था।
शूटिंग में भारत के पदक

साल पदक
1982 दो
1990 पांच
1994 सात
1998 सात
2002 24
2006 27
2010 30
2014 17
2018 16

इस बार इन खेलों के पदक ने चौंकाया

लॉन बॉल: इस खेल में भारत को पहली बार पदक मिला। सबसे पहले महिला टीम (चार सदस्य) ने स्वर्ण पदक जीतकर इस खेल को देश में प्रसिद्ध कर दिया। फिर पुरुष टीम (चार सदस्यीय) ने रजत पदक जीतकर चौंका दिया।

एथलेटिक्स: ट्रैक एंड फील्ड में भारत के लिए इस बार प्रदर्शन शानदार रहा। खासकर हाई जंप और ट्रिपल जंप में खिलाड़यों ने चौंका दिया। एल्डोस पॉल ने ट्रिपल जंप में स्वर्ण पदक जीतकर इतिहास रच दिया। पुरुष लॉन्ग जंप में मुरली श्रीशंकर ने रजत पदक अपने नाम किया। 10,000 मीटर पैदल चाल में प्रियंका श्रीवास्तव, पुरुष 3000 मीटर स्टीपलेचज में अविनाश साबले और ट्रिपल जंप में अब्दुल्ला अबूबकर ने रजत पदक जीता। पुरुष हाई जंप में तेजस्विन शंकर, पुरुष 10,000 पैदल चाल में संदीप कुमार और महिला जेवलिन थ्रो में अन्नु रानी कांस्य पदक जीतने में कामयाब रहीं।

पैरा-पावरलिफ्टिंग: सुधीर ने पैरा-पावरलिफ्टिंग में स्वर्ण पदक जीता।
खेलवार पदक तालिका

खेल स्वर्ण रजत कांस्य कुल
कुश्ती 6 1 5 12
टेबल टेनिस 4 1 2 7
वेटलिफ्टिंग 3 3 4 10
मुक्केबाजी 3 1 3 7
बैडमिंटन 3 1 2 6
एथलेटिक्स 1 4 3 8
लॉन बॉल 1 1 0 2
पैरा-पावरलिफ्टिंग 1 0 0 1
जूडो 0 2 1 3
हॉकी 0 1 1 2
क्रिकेट 0 1 0 1
स्क्वैश 0 0 2 2
कुल 22 16 23 61

विस्तार

राष्ट्रमंडल खेल 2022 का समापन हो चुका है। इस बार भारत को कुल 61 पदक मिले हैं। इनमें 22 स्वर्ण, 16 रजत और 23 कांस्य पदक शामिल हैं। 2018 राष्ट्रमंडल खेलों की तुलना में इस बार भारत ने पांच पदक कम जीते हैं, लेकिन इस बार शूटिंग को शामिल नहीं किया गया था। इसके बावजूद भारत ने शानदार प्रदर्शन किया है। लॉन बॉल और एथलेटिक्स सहित कई खेलों में हमें ऐतिहासिक सफलता मिली।

शूटिंग में कैसा रहा है भारत का प्रदर्शन

शूटिंग में भारत का प्रदर्शन शानदार रहा है। राष्ट्रमंडल खेलों में देश को इस खेल में अब तक 135 पदक जीते हैं। इसमें 63 स्वर्ण, 44 रजत और 28 कांस्य शामिल है। इस खेल में पदक जीतने के मामले में भारत दूसरे स्थान पर है। उससे आगे सिर्फ ऑस्ट्रेलिया है। ऑस्ट्रेलिया ने 70 स्वर्ण, 59 रजत और 42 कांस्य सहित कुल 171 पदक जीते हैं।

शूटिंग को 1966 में पहली बार राष्ट्रमंडल खेलों में शामिल किया गया था। भारत को पहली बार 1982 में शूटिंग में पदक मिला था। तब 25 मीटर सेंटर फायर पिस्टल (डबल्स) में मोहिंदर लाल और अशोक पंडिल ने रजत पदक जीता था। वहीं, शरद और आर विजय ने 25 मीटर रैपिड फायर पिस्टल (डबल्स) में कांस्य जीता था। 25 मीटर सेंटर फायर पिस्टल स्पर्धा में 1990 में पहला स्वर्ण मिला था। तब अशोक पंडित ने स्वर्णिम निशाना लगाया था।



Source link