Hamara Kasba I Hindi News I Bundelkhand News

चेहरे जिन्होंने राष्ट्रमंडल खेलों में दिलाया सोना, मीराबाई चानू ने की शुरुआत तो अचंत शरत ने किया अंत

ByNews Desk

Aug 9, 2022


बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेलों में सारे प्रतिस्पर्धी मुकाबले समाप्त हो चुके हैं। भारत ने 22 स्वर्ण, 16 रजत और 23 कांस्य सहित कुल 61 पदक अपने नाम किए। मीराबाई चानू ने पहला और अचंत शरत कमल ने आखिरी स्वर्ण जीता। इस दौरान पीवी सिंधु, निकहत जरीन और बजरंग पूनिया जैसे दिग्गज एथलीट ने भी गोल्ड जीतकर देश का नाम रोशन किया। जानिए किन-किन खिलाड़ियों ने भारत को सोना दिलाया…

मीराबाई चानू (वेटलिफ्टिंग)

टोक्यो ओलंपिक की रजत पदक विजेता मीराबाई चानू ने भारत को पहला स्वर्ण दिलाया। उन्होंने वेटलिफ्टिंग में 49 किलोग्राम भार वर्ग में स्वर्ण पदक अपने नाम किया। मीराबाई लगातार तीन राष्ट्रमंडल खेलों में पदक जीतने में कामयाब रहीं। 2014 ग्लास्गो में मीरा ने रजत पदक और 2018 गोल्ड कोस्ट में स्वर्ण पदक जीता था।

जेरेमी लालरिनुंगा (वेटलिफ्टिंग)

भारत को बर्मिंघम में दूसरा स्वर्ण पदक वेटलिफ्टिंग में ही जेरेमी लालरिनुंगा ने दिलाया। उन्होंने 67 किग्रा भारवर्ग में इतिहास रच दिया। जेरेमी ने 300 किग्रा भार उठाकर देश को सोना दिलाया। वह बर्मिंघम में स्वर्ण जीतने वाले पहले भारतीय पुरुष एथलीट हैं।

अंचिता शेउली (वेटलिफ्टिंग)

वेटलिफ्टिंग में ही भारत को तीसरा स्वर्ण मिला। 20 साल के अचिंता शेउली ने 73 किलोग्राम भारवर्ग में स्नैच राउंड में 143 किलो और क्लीन एंड जर्क राउंड में 170 किलो समेत कुल 313 किलो वजन उठाया।

महिला लॉन बॉल टीम

लॉन बॉल में भारतीय महिला टीम ने स्वर्ण जीता। उसने पहली बार राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक हासिल किया। इस टीम में लवली चौबे, पिंकी, नयनमोनी सैकिया और रूपा रानी टिर्की की चौकड़ी थी। भारत का लॉन बॉल में यह पहला पदक है।



Source link