महोबाः नवजात की मौत पर लापरवाही का आरोप, लगाया जाम


ख़बर सुनें

महोबा। जिला महिला अस्पताल में मरीजों से वसूली के मामले लगातार उजागर हो रहे हैं। रविवार को एक नवजात की मौत हो गई। आक्रोशित परिजनों ने इलाज में लापरवाही व पांच हजार रुपये सुविधा शुल्क मांगने का आरोप लगाते हुए अस्पताल के बाहर जाम लगाकर नारेबाजी की।
शहर कोतवाली के चुरबरा निवासी पुष्पेंद्र की पत्नी रिंकी को चार दिन पहले प्रसव पीड़ा होने पर परिजन जिला महिला अस्पताल लाए थे। जहां प्रसूता ने नवजात को जन्म दिया। रात में भाप लगाने के बाद नवजात की हालत बिगड़ गई। रविवार की सुबह डॉक्टर ने झांसी रेफर कर दिया। वहां नवजात को मृत घोषित कर दिया। रात आठ बजे महिला अस्पताल पहुंचे परिजनों ने सड़क पर जाम लगाकर इलाज में लापरवाही का आरोप लगाया। पुष्पेंद्र का आरोप है कि नर्स ने प्रसव के नाम पर पांच हजार की मांग की थी। न देने पर इलाज में लापरवाही की गई। इससे बच्चे की मौत हुई। सूचना पर सीएमओ डॉ. डीके गर्ग व सीओ ने जांच कराकर कार्रवाई का भरोसा देकर मामला शांत कराया।

महोबा। जिला महिला अस्पताल में मरीजों से वसूली के मामले लगातार उजागर हो रहे हैं। रविवार को एक नवजात की मौत हो गई। आक्रोशित परिजनों ने इलाज में लापरवाही व पांच हजार रुपये सुविधा शुल्क मांगने का आरोप लगाते हुए अस्पताल के बाहर जाम लगाकर नारेबाजी की।

शहर कोतवाली के चुरबरा निवासी पुष्पेंद्र की पत्नी रिंकी को चार दिन पहले प्रसव पीड़ा होने पर परिजन जिला महिला अस्पताल लाए थे। जहां प्रसूता ने नवजात को जन्म दिया। रात में भाप लगाने के बाद नवजात की हालत बिगड़ गई। रविवार की सुबह डॉक्टर ने झांसी रेफर कर दिया। वहां नवजात को मृत घोषित कर दिया। रात आठ बजे महिला अस्पताल पहुंचे परिजनों ने सड़क पर जाम लगाकर इलाज में लापरवाही का आरोप लगाया। पुष्पेंद्र का आरोप है कि नर्स ने प्रसव के नाम पर पांच हजार की मांग की थी। न देने पर इलाज में लापरवाही की गई। इससे बच्चे की मौत हुई। सूचना पर सीएमओ डॉ. डीके गर्ग व सीओ ने जांच कराकर कार्रवाई का भरोसा देकर मामला शांत कराया।



Source link