15 अगस्त को लेकर दिल्ली पुलिस सतर्क, लालकिले की सुरक्षा में तैनात 10 हजार जवान; मिले दंगे के इनपुट


दिल्ली पुलिस 15 अगस्त को लेकर हाई अलर्ट पर है। पूरी दिल्ली समेत लालकिले पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। दिल्ली पुलिस के 10 हजार से ज्यादा जवान जमीन से लेकर आसमान तक लालकिले की सुरक्षा पर नजर रखेंगे। आतंकी हमले के इनपुट को देखते हुए दिल्ली पुलिस सभी सुरक्षा एजेंसियों के संपर्क में है और एजेंसियों के इनपुट को देखते हुए सुरक्षा के इंतजाम किए गए हैं। पतंग व गुब्बारे उड़ाने वालों पर विशेष नजर रखी जाएगी। पतंगबाजों को रोकने के लिए 400 जवान अलग से तैनात किए गए हैं। लालकिले के आसपास स्थित ऊंची इमारतों को पुलिस अपने कब्जे में ले लेगी और उन पर दिल्ली पुलिस के कमांडो व शूटर तैनात किए जाएंगे। इन बिल्डिंग को सील किया जाएगा। इनपुट के बाद दिल्ली में स्थित रोहिंग्याओं की कॉलोनियों पर भी नजर रखी जा रही है। 

दिल्ली पुलिस के विशेष पुलिस आयुक्त (लॉ एण्ड ऑर्डर, जोन-एक) दीपेंद्र पाठक ने लालकिले के सुरक्षा इंतजामों के बारे में सोमवार को मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि 15 अगस्त को दिल्ली पुलिस का जमीन से लेकर आसमान तक पहरा रहेगा। लाल किले के आसपास एवं वहां पर आने जाने वाले रास्तों पर दिल्ली पुलिस के 10 हजार से ज्यादा जवान तैनात रहेंगे। उन्होंने बताया कि इस बार खुफिया विभाग से जिस तरह के इनपुट मिले हैं उन्हें ध्यान में रखते हुए सुरक्षा एजेंसियों के साथ तालमेल कर लालकिले का सुरक्षा चक्र बनाया जा रहा है। हर बार की तरफ इस बार भी स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम के दौरान लालकिले के आसपास का क्षेत्र नो फ्लाइंग जोन रहेगा। हर बार की तरह इस बार भी पतंग, गुब्बारे, ड्रोन व हल्के विमान आदि उड़ाने पर भी प्रतिबंध रहेगा। 400 से ज्यादा काइट कैचर्स बलून और पतंगों को रोकने के लिए लगाए गए। 

विशेष पुलिस आयुक्त ने बताया कि इसके अलावा एक हजार से ज्यादा आधुनिक सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। इन कैमरों से आने-जाने वालों पर नजर रखी जाएगी। दिल्ली पुलिस सुरक्षा के हर कदम उठा रही है। किराएदारों, गेस्ट हाउस व साइबर कैफे आदि का वेरीफिकेशन किया जा रहा है। पुलिस बाजारों में डमी बम रख कर मॉक ड्रिल कर अपनी तैयारियों को मजबूत कर रही है। उन्होंने मीडिया के जरिए लोगों से अपील की है कि लोग पुलिस के दिशानिर्देशों व सुझावों का पालन करें और संदिग्ध वस्तु के बारे में तुरंत पुलिस को सूचना दें। 

दिल्ली पुलिस पड़ोसी राज्यों की पुलिस के संपर्क में है

विशेष पुलिस आयुक्त दीपेंद्र पाठक ने बताया कि दिल्ली पुलिस पड़ोसी राज्यों की पुलिस के संपर्क में है। हाल ही में पड़ोसी राज्यों की पुलिस के साथ इंटरस्टेट कॉर्डिनेशन की बैठक हुई है। इसमें रियल टाइम सूचना का आदान-प्रदान पर सहमति बनी। पड़ोसी राज्यों ने हर संभव सहायता का आश्वासन दिया है। 13 अगस्त से ही बॉर्डरों को सील कर दिया जाएगा। बॉर्डरों पर कड़ी चेकिंग की जाएगी।

15 अगस्त को हो सकते हैं कॉलोनियों में दंगे  

इस बार दिल्ली पुलिस को खुफिया विभाग से इंनपुट मिले हैं कि रोहिंग्याओं की कॉलोनी में इस 15 अगस्त को दंगे हो सकते हैं। विशेष पुलिस आयुक्त से इनपुट को लेकर तैयारियों के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि दिल्ली पुलिस की स्पेशल ब्रांच ने रोहिंग्या के लिए पहले से ही इंस्टिट्यूशनल मैकेनिज्म बनाया हुआ है। कॉलोनियों पर विशेष नजर रखी हुई है। 



Source link