धोनी के निवेश वाली कंपनी भारतीय सेना को मुहैया कराएगी ड्रोन सेवाएं, जानिए क्या है तैयारी?


ख़बर सुनें

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के निवेश वाली ड्रोन कंपनी गरुड़ एयरोस्पेस भारतीय सेना को अपनी विशेषज्ञ सेवा मुहैया कराने के लिए तैयार है। कंपनी सेना को यह  सेवा अंतरराष्ट्रीय संगठित आपराधिक नेटवर्क का पता लगाने, उन्हें रोकने और बाधित करने करने के लिए चलाए जा रहे विशेष मिशनों को पूरा करने के लिए देगी।

बता दें कि पूर्व भारतीय क्रिकेट कप्तान महेंद्र सिंह धोनी, जो भारतीय प्रादेशिक सेना के पैराशूट रेजिमेंट में लेफ्टिनेंट कर्नल की मानद रैंक रखते हैं, कम लागत वाली ड्रोन सोल्यूशन प्रोवाइडर कंपनी गरुड़ एयरोस्पेस में ब्रांड एम्बेस्डर और निवेशक हैं। 

उधर, भारतीय सेना ने भी आधुनिक युद्ध में ड्रोन का अधिक प्रभावी ढंग से उपयोग करने के लिए ड्रोन प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में गरुड़ एयरोस्पेस की विशेषज्ञता और तकनीकी ज्ञान का उपयोग करने में गहरी रुचि व्यक्त की है। कंपनी ने हाल ही में 250 मिलियन अमरीकी डालर के मूल्यांकन पर अपनी 30 मिलियन अमरीकी डाॅलर की सीरीज ए फंडिंग हासिल की है।

कंपनी के संस्थापक और सीईओ अग्निश्वर जयप्रकाश ने कहा है कि गरुड़ एयरोस्पेस ने भारतीय सेना की मदद करने के उद्देश्य से अद्वितीय अनुप्रयोगों के लिए महत्वपूर्ण उत्पाद तैयार किए हैं। अपनी रणनीतिक और सामरिक सेवाओं के दौरान कंपनी बहुउद्देशीय ड्रोन का उपयोग करेगी।

विस्तार

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के निवेश वाली ड्रोन कंपनी गरुड़ एयरोस्पेस भारतीय सेना को अपनी विशेषज्ञ सेवा मुहैया कराने के लिए तैयार है। कंपनी सेना को यह  सेवा अंतरराष्ट्रीय संगठित आपराधिक नेटवर्क का पता लगाने, उन्हें रोकने और बाधित करने करने के लिए चलाए जा रहे विशेष मिशनों को पूरा करने के लिए देगी।

बता दें कि पूर्व भारतीय क्रिकेट कप्तान महेंद्र सिंह धोनी, जो भारतीय प्रादेशिक सेना के पैराशूट रेजिमेंट में लेफ्टिनेंट कर्नल की मानद रैंक रखते हैं, कम लागत वाली ड्रोन सोल्यूशन प्रोवाइडर कंपनी गरुड़ एयरोस्पेस में ब्रांड एम्बेस्डर और निवेशक हैं। 

उधर, भारतीय सेना ने भी आधुनिक युद्ध में ड्रोन का अधिक प्रभावी ढंग से उपयोग करने के लिए ड्रोन प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में गरुड़ एयरोस्पेस की विशेषज्ञता और तकनीकी ज्ञान का उपयोग करने में गहरी रुचि व्यक्त की है। कंपनी ने हाल ही में 250 मिलियन अमरीकी डालर के मूल्यांकन पर अपनी 30 मिलियन अमरीकी डाॅलर की सीरीज ए फंडिंग हासिल की है।

कंपनी के संस्थापक और सीईओ अग्निश्वर जयप्रकाश ने कहा है कि गरुड़ एयरोस्पेस ने भारतीय सेना की मदद करने के उद्देश्य से अद्वितीय अनुप्रयोगों के लिए महत्वपूर्ण उत्पाद तैयार किए हैं। अपनी रणनीतिक और सामरिक सेवाओं के दौरान कंपनी बहुउद्देशीय ड्रोन का उपयोग करेगी।



Source link