ताइवान के विदेश मंत्री ने साधा निशाना, कहा- चीन का सैन्य अभ्यास हमारे अधिकारों का घोर उल्लंघन


ख़बर सुनें

ताइवान के विदेश मंत्री ने कहा है कि ताइवान के आसपास के क्षेत्रों में सैन्य अभ्यास करने का चीन का निर्णय अंतरराष्ट्रीय कानून के तहत ताइवान के अधिकारों का घोर उल्लंघन है। विशेष रूप से जिस तरह से उसने अपने अभ्यास के लिए क्षेत्रों को नामित किया है। उन्होंने आगे कहा कि चीन द्वारा टारगेटेड और बड़े पैमाने पर किया जा रहा सैन्य अभ्यास गंभीर उत्तेजना का प्रतीक है। चीन ने ताइवान पर आक्रमण की तैयारी के लिए ‘अभ्यास’ का इस्तेमाल किया है। उन्होंने आगे आरोप लगाया कि ताइवान पर आक्रमण करने के अपने प्रयास में हस्तक्षेप करने से चीन अन्य देशों को रोकने की कोशिश कर रहा है।
 
गौरतलब है कि इससे पहले ताइवानी रक्षा मंत्रालय ने बड़ा खुलासा करते हुए कहा था कि चीन हमारे द्वीप जैसे मॉडल बनाकर हमले की तैयारी कर रहा है। ताइवान ने कहा कि चीन हमारी धरती पर हमले के लिए साजिश रच रहा है। समाचार एजेंसी एएफपी ने इसकी जानकारी दी थी। वहीं, ताइवानी रक्षा मंत्रालय ने एक बयान जारी कर कहा था कि कई चीनी विमानों और जहाजों को ताइवान जलडमरूमध्य की मध्य रेखा को पार करते हुए देखा गया था। बता दें कि अमेरिकी संसद की स्पीकर नैंसी पेलोसी के आने के बाद से ही चीन ताइवान को धमकी दे रहा है। इतना ही नहीं लाइव फायर ड्रिल कर डराने की कोशिश कर रहा है। हालांकि अमेरिका ड्रैगन की हर गतिविधि पर नजर रख रहा है। 

विस्तार

ताइवान के विदेश मंत्री ने कहा है कि ताइवान के आसपास के क्षेत्रों में सैन्य अभ्यास करने का चीन का निर्णय अंतरराष्ट्रीय कानून के तहत ताइवान के अधिकारों का घोर उल्लंघन है। विशेष रूप से जिस तरह से उसने अपने अभ्यास के लिए क्षेत्रों को नामित किया है। उन्होंने आगे कहा कि चीन द्वारा टारगेटेड और बड़े पैमाने पर किया जा रहा सैन्य अभ्यास गंभीर उत्तेजना का प्रतीक है। चीन ने ताइवान पर आक्रमण की तैयारी के लिए ‘अभ्यास’ का इस्तेमाल किया है। उन्होंने आगे आरोप लगाया कि ताइवान पर आक्रमण करने के अपने प्रयास में हस्तक्षेप करने से चीन अन्य देशों को रोकने की कोशिश कर रहा है।

 

गौरतलब है कि इससे पहले ताइवानी रक्षा मंत्रालय ने बड़ा खुलासा करते हुए कहा था कि चीन हमारे द्वीप जैसे मॉडल बनाकर हमले की तैयारी कर रहा है। ताइवान ने कहा कि चीन हमारी धरती पर हमले के लिए साजिश रच रहा है। समाचार एजेंसी एएफपी ने इसकी जानकारी दी थी। वहीं, ताइवानी रक्षा मंत्रालय ने एक बयान जारी कर कहा था कि कई चीनी विमानों और जहाजों को ताइवान जलडमरूमध्य की मध्य रेखा को पार करते हुए देखा गया था। बता दें कि अमेरिकी संसद की स्पीकर नैंसी पेलोसी के आने के बाद से ही चीन ताइवान को धमकी दे रहा है। इतना ही नहीं लाइव फायर ड्रिल कर डराने की कोशिश कर रहा है। हालांकि अमेरिका ड्रैगन की हर गतिविधि पर नजर रख रहा है। 



Source link