शहीद एसपी सिटी मुकुल और संतोष के नाम से जाने जाएंगे पुलिस लाइन के गेट, जवाहर बाग हिंसा में गई थी जान


ख़बर सुनें

मथुरा पुलिस लाइन का गेट नंबर एक शहीद एसपी सिटी मुकुल द्विवेदी और दो नंबर गेट शहीद एसओ संतोष यादव के नाम से जाना जाएगा। इसके अलावा पुलिस लाइन में दोनों भवन भी इन शहीदों के नाम से जाने जाएंगे। सोमवार को स्वतंत्रता दिवस पर एसएसपी अभिषेक यादव ने शहीदों के परिवारों के सामने दोनों गेट और दोनों भवनों का लोकार्पण किया।

दो जून 2016 को जवाहर बाग हिंसा में तत्कालीन एसपी सिटी मुकुल द्विवेदी और एसओ फरह संतोष यादव शहीद हो गए थे। जवाहर बाग को कब्जामुक्त कराते वक्त शहीद हुए दोनों अफसरों को पुलिस ने स्वतंत्रता दिवस पर श्रद्धांजलि दी। सोमवार को शहीद एसपी सिटी की पत्नी अर्चना द्विवेदी और शहीद एसओ की पत्नी मिथलेश यादव मथुरा पहुंची। यहां पर एसएसपी अभिषेक यादव ने शहीदों की पत्नियों को सम्मानित करने के बाद पुलिस लाइन गेट एक, दो और दोनों भवनों का लोकार्पण शहीदों के नाम से किया। 

एसएसपी अभिषेक यादव ने कहा कि दोनों अफसरों की कुर्बानी को भुलाया नहीं जा सकता। तत्कालीन एसपी सिटी की पत्नी अर्चना द्विवेदी ने बताया कि एसएसपी के प्रयासों से वास्तव में थोड़ा सा सुकून मिला है, लेकिन जवाहर बाग में शहीदों की प्रतिमा लगे तो यही सच्ची श्रद्धांजलि होगी। योगी सरकार को इस तरफ जल्द कदम उठाना चाहिए।

विस्तार

मथुरा पुलिस लाइन का गेट नंबर एक शहीद एसपी सिटी मुकुल द्विवेदी और दो नंबर गेट शहीद एसओ संतोष यादव के नाम से जाना जाएगा। इसके अलावा पुलिस लाइन में दोनों भवन भी इन शहीदों के नाम से जाने जाएंगे। सोमवार को स्वतंत्रता दिवस पर एसएसपी अभिषेक यादव ने शहीदों के परिवारों के सामने दोनों गेट और दोनों भवनों का लोकार्पण किया।

दो जून 2016 को जवाहर बाग हिंसा में तत्कालीन एसपी सिटी मुकुल द्विवेदी और एसओ फरह संतोष यादव शहीद हो गए थे। जवाहर बाग को कब्जामुक्त कराते वक्त शहीद हुए दोनों अफसरों को पुलिस ने स्वतंत्रता दिवस पर श्रद्धांजलि दी। सोमवार को शहीद एसपी सिटी की पत्नी अर्चना द्विवेदी और शहीद एसओ की पत्नी मिथलेश यादव मथुरा पहुंची। यहां पर एसएसपी अभिषेक यादव ने शहीदों की पत्नियों को सम्मानित करने के बाद पुलिस लाइन गेट एक, दो और दोनों भवनों का लोकार्पण शहीदों के नाम से किया। 

एसएसपी अभिषेक यादव ने कहा कि दोनों अफसरों की कुर्बानी को भुलाया नहीं जा सकता। तत्कालीन एसपी सिटी की पत्नी अर्चना द्विवेदी ने बताया कि एसएसपी के प्रयासों से वास्तव में थोड़ा सा सुकून मिला है, लेकिन जवाहर बाग में शहीदों की प्रतिमा लगे तो यही सच्ची श्रद्धांजलि होगी। योगी सरकार को इस तरफ जल्द कदम उठाना चाहिए।



Source link