Hamara Kasba I Hindi News I Bundelkhand News

सरकार ने डीजल और एटीएफ पर विंडफॉल टैक्स बढ़ाया, पाक्षिक समीक्षा बैठक के बाद लिया गया फैसला

ByNews Desk

Aug 19, 2022


ख़बर सुनें

अंतरराष्ट्रीय बाजार में क्रूड ऑयल और रिफाईनरी उत्पादों के कीमतों में आई कमी के बाद केंद्र सरकार ने एक बार फिर से विमानन ईंधन के निर्यात पर विंडफॉल प्रॉफिट टैक्स लगाने का फैसला किया है। इसके साथ ही सरकार ने डीजल के निर्यात पर विंडफॉल प्रॉफिट टैक्स को बढ़ा दिया है। वहीं घरेलू क्रूड ऑयल के मामले में इसे कम कर दिया गया है। सरकार ने पेट्रोल के निर्यात पर विंडफॉल प्रॉफिट टैक्स को पहले की तरह ही शून्य रखने का भी फैसला लिया है। 

वित्त मंत्रालय ने जारी किया नोटिफिकेशन 

सरकार ने तीसरे पाक्षिक रिव्यू के बाद विंडफॉल प्रॉफिट टैक्स बढ़ाने का फैसला लिया है। वित्त मंत्रालय ने  नोटिफिकेशन जारी कर इस बात की जानकारी दी है। सरकार के इस फैसले के बाद डीजल के निर्यात पर अब विंडफॉल टैक्स बढ़कर सात रुपये प्रति लीटर हो गया है। पूर्व में पांच रुपये प्रति लीटर का विंडफॉल टैक्स लगता था। वहीं अब विमानों के ईंधन (एटीफ) पर दो रुपये प्रति लीटर की दर से विंडफॉल टैक्स लगेगा। पहले एटीएफ के निर्यात पर कोई टैक्स नहीं लगता था। 

इसी महीने की शुरुआत में घटाया गया था विंडफॉल टैक्स

बता दें कि सरकार ने अगस्त महीने की शुरुआत में हुई दूसरी समीक्षा के बाद डीजल पर एक्सपोर्ट टैक्स घटाकर पांच रुपये प्रति लीटर कर दिया था, उसी समय एटीएफ पर टैक्स को हटाकर शून्य कर दिया गया था। वहीं गुरुवार को तीसरी समीक्षा बैठक में सरकार ने क्रूड ऑयल के निर्यात पर लग रहे टैक्स में कटौती का भी फैसला लिया है। अब घरेलु क्रूड के निर्यात पर 17750 रुपये की जगह 13000 रुपये प्रति टन की दर से विंडफॉल प्राॅफिट टैक्स का भुगतान करना पड़ेगा।

विस्तार

अंतरराष्ट्रीय बाजार में क्रूड ऑयल और रिफाईनरी उत्पादों के कीमतों में आई कमी के बाद केंद्र सरकार ने एक बार फिर से विमानन ईंधन के निर्यात पर विंडफॉल प्रॉफिट टैक्स लगाने का फैसला किया है। इसके साथ ही सरकार ने डीजल के निर्यात पर विंडफॉल प्रॉफिट टैक्स को बढ़ा दिया है। वहीं घरेलू क्रूड ऑयल के मामले में इसे कम कर दिया गया है। सरकार ने पेट्रोल के निर्यात पर विंडफॉल प्रॉफिट टैक्स को पहले की तरह ही शून्य रखने का भी फैसला लिया है। 

वित्त मंत्रालय ने जारी किया नोटिफिकेशन 

सरकार ने तीसरे पाक्षिक रिव्यू के बाद विंडफॉल प्रॉफिट टैक्स बढ़ाने का फैसला लिया है। वित्त मंत्रालय ने  नोटिफिकेशन जारी कर इस बात की जानकारी दी है। सरकार के इस फैसले के बाद डीजल के निर्यात पर अब विंडफॉल टैक्स बढ़कर सात रुपये प्रति लीटर हो गया है। पूर्व में पांच रुपये प्रति लीटर का विंडफॉल टैक्स लगता था। वहीं अब विमानों के ईंधन (एटीफ) पर दो रुपये प्रति लीटर की दर से विंडफॉल टैक्स लगेगा। पहले एटीएफ के निर्यात पर कोई टैक्स नहीं लगता था। 

इसी महीने की शुरुआत में घटाया गया था विंडफॉल टैक्स

बता दें कि सरकार ने अगस्त महीने की शुरुआत में हुई दूसरी समीक्षा के बाद डीजल पर एक्सपोर्ट टैक्स घटाकर पांच रुपये प्रति लीटर कर दिया था, उसी समय एटीएफ पर टैक्स को हटाकर शून्य कर दिया गया था। वहीं गुरुवार को तीसरी समीक्षा बैठक में सरकार ने क्रूड ऑयल के निर्यात पर लग रहे टैक्स में कटौती का भी फैसला लिया है। अब घरेलु क्रूड के निर्यात पर 17750 रुपये की जगह 13000 रुपये प्रति टन की दर से विंडफॉल प्राॅफिट टैक्स का भुगतान करना पड़ेगा।



Source link