अनियंत्रित बाइक से गिरकर युवक की मौत, दो गंभीर, परिजनों में मचा कोहराम


ख़बर सुनें

हमीरपुर जिले में राठ-उरई मार्ग पर रहंक बम्बी के पास तेज रफ्तार बाइक बीच सड़क पर पड़ी मिट्टी के ढेर से अनियंत्रित होकर गिर गई। जिसमें एक युवक की मौत हो गई जबकि दो साथी गंभीर रूप से घायल हो गए। हेलमेट न पहने होने से बाइक सवारों के सिर में गंभीर चोटें आई हैं।

कोतवाली क्षेत्र के पहाड़ी गढ़ी गांव निवासी दीपकांत (22) अपने साथी गांव के ही अनिकेत (19) व पंकज कुमार (21) के साथ बाइक से शनिवार शाम कहीं गए थे। रात करीब पौने दस बजे वापस लौटते समय रहंक बंबी के पास सड़क के बीच में पड़ी मिट्टी के ढेर से अनियंत्रित होकर बाइक से गिरकर घायल हो गए।

राहगीरों की सूचना पर पहुंची एंबुलेंस ने घायलों को सीएचसी में भर्ती कराया। जहां डॉक्टर भरत राजपूत ने तीनों की हालत गंभीर देख मेडिकल कॉलेज झांसी रेफर कर दिया। झांसी ले जाते समय दीपकांत ने रास्ते में ही दम तोड़ दिया। डॉक्टर ने कहा कि घायलों के सिर में गंभीर चोट है।

यदि बाइक सवार हेलमेट पहनकर गाड़ी चलाते तो जान बच सकती थी। मृतक अभी अविवाहित था। अपने पिता नरेश कुमार के साथ खेती-बाड़ी करता था। परिजनों ने शव का बिना पोस्टमार्टम कराए अंतिम संस्कार कर दिया है। कोतवाल विनोद कुमार राय ने बताया किसी ने थाने में सूचना नहीं दी है।

विस्तार

हमीरपुर जिले में राठ-उरई मार्ग पर रहंक बम्बी के पास तेज रफ्तार बाइक बीच सड़क पर पड़ी मिट्टी के ढेर से अनियंत्रित होकर गिर गई। जिसमें एक युवक की मौत हो गई जबकि दो साथी गंभीर रूप से घायल हो गए। हेलमेट न पहने होने से बाइक सवारों के सिर में गंभीर चोटें आई हैं।

कोतवाली क्षेत्र के पहाड़ी गढ़ी गांव निवासी दीपकांत (22) अपने साथी गांव के ही अनिकेत (19) व पंकज कुमार (21) के साथ बाइक से शनिवार शाम कहीं गए थे। रात करीब पौने दस बजे वापस लौटते समय रहंक बंबी के पास सड़क के बीच में पड़ी मिट्टी के ढेर से अनियंत्रित होकर बाइक से गिरकर घायल हो गए।

राहगीरों की सूचना पर पहुंची एंबुलेंस ने घायलों को सीएचसी में भर्ती कराया। जहां डॉक्टर भरत राजपूत ने तीनों की हालत गंभीर देख मेडिकल कॉलेज झांसी रेफर कर दिया। झांसी ले जाते समय दीपकांत ने रास्ते में ही दम तोड़ दिया। डॉक्टर ने कहा कि घायलों के सिर में गंभीर चोट है।

यदि बाइक सवार हेलमेट पहनकर गाड़ी चलाते तो जान बच सकती थी। मृतक अभी अविवाहित था। अपने पिता नरेश कुमार के साथ खेती-बाड़ी करता था। परिजनों ने शव का बिना पोस्टमार्टम कराए अंतिम संस्कार कर दिया है। कोतवाल विनोद कुमार राय ने बताया किसी ने थाने में सूचना नहीं दी है।



Source link

Leave a Comment