Hamara Kasba I Hindi News I Bundelkhand News

बच्ची से छेड़छाड़ करने वाले को सात साल की जेल

ByNews Desk

Aug 8, 2022


ख़बर सुनें

हमीरपुर। सुमेरपुर थानाक्षेत्र के एक गांव में डेढ़ वर्ष पूर्व बकरी चराने गई बच्ची से छेड़छाड़ करने वाले को विशेष न्यायाधीश पॉक्सो एक्ट नीरज कुमार महाजन ने साक्ष्यों के आधार पर दोषी करार दिया है। दोषी को अदालत ने सात वर्ष कैद सुनाई और 25 हजार रुपये जुर्माना लगाया है। जुर्माना अदा न करने पर तीन माह का अतिरिक्त कारावास भुगतना होगा।
विशेष लोक अभियोजक रूद्र प्रताप सिंह ने बताया कि ग्रामीण ने थाने में छेड़छाड़ की तहरीर दी थी। इसमें बताया था कि 16 जनवरी 2021 को दोपहर करीब साढ़े 11 बजे सात वर्षीय पुत्री दुलीचंद्र के बगीचे में बकरियां चराने गई थी। उसके साथ छह वर्षीय चचेरी बहन भी थी। चंदुलीजार निवासी कैलाश यादव वहां पहुंच गया। उसने पलक को पेड़ से पत्ते तोड़ने के लिए भेज दिया और पुत्री से छेड़खानी करने लगा। उसे पकड़कर दूसरी तरफ लिए जा रहा था। उसे देखकर चचेरी बहन ने शोर मचा दिया। जिससे कैलाश भाग गया था। पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर आरोपपत्र कोर्ट में दाखिल किया था।
एनडीपीएस में 11 माह की सजा
हमीरपुर। नशीली गोलियों की तस्करी करने के मामले में अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश एफटीसी द्वितीय गीतांजलि गर्ग ने साक्ष्यों के आधार पर आरोपी को दोषी कराकर देकर 11 माह की सजा सुनाई है। दोषी पर छह हजार रुपये जुर्माना भी लगाया गया है।
10 जनवरी 2009 को मुस्करा थानाक्षेत्र के उपनिरीक्षक मेवालाल गुप्ता अपने हमराही वंशगोपाल के साथ गश्त के लिए अलरा गौरा व गहरौली गांव के लिए रवाना हुए थे। अलरा गौरा गांव जाते समय पिपरिया बाबा पहाड़ी लिंक मार्ग पर एक व्यक्ति आ रहा है। पुलिस को देखकर वह भागने लगा। पुलिस ने उसे पकड़ लिया। पूछताछ में उसने अपना नाम छत्रपाल निवासी विजयपुर थाना कुलपहाड़, जिला महोबा, हाल निवासी अलरा गौरा थाना मुस्करा बताया था। उसके पास 150 नशीली डायजापाम की गोलियां मिलीं थीं। सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता प्रवीण भदौरिया व अशोक शुक्ला की दलीलों और साक्ष्यों के आधार पर कोर्ट ने आरोपी को दोषी करार दिया। (संवाद)

हमीरपुर। सुमेरपुर थानाक्षेत्र के एक गांव में डेढ़ वर्ष पूर्व बकरी चराने गई बच्ची से छेड़छाड़ करने वाले को विशेष न्यायाधीश पॉक्सो एक्ट नीरज कुमार महाजन ने साक्ष्यों के आधार पर दोषी करार दिया है। दोषी को अदालत ने सात वर्ष कैद सुनाई और 25 हजार रुपये जुर्माना लगाया है। जुर्माना अदा न करने पर तीन माह का अतिरिक्त कारावास भुगतना होगा।

विशेष लोक अभियोजक रूद्र प्रताप सिंह ने बताया कि ग्रामीण ने थाने में छेड़छाड़ की तहरीर दी थी। इसमें बताया था कि 16 जनवरी 2021 को दोपहर करीब साढ़े 11 बजे सात वर्षीय पुत्री दुलीचंद्र के बगीचे में बकरियां चराने गई थी। उसके साथ छह वर्षीय चचेरी बहन भी थी। चंदुलीजार निवासी कैलाश यादव वहां पहुंच गया। उसने पलक को पेड़ से पत्ते तोड़ने के लिए भेज दिया और पुत्री से छेड़खानी करने लगा। उसे पकड़कर दूसरी तरफ लिए जा रहा था। उसे देखकर चचेरी बहन ने शोर मचा दिया। जिससे कैलाश भाग गया था। पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर आरोपपत्र कोर्ट में दाखिल किया था।

एनडीपीएस में 11 माह की सजा

हमीरपुर। नशीली गोलियों की तस्करी करने के मामले में अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश एफटीसी द्वितीय गीतांजलि गर्ग ने साक्ष्यों के आधार पर आरोपी को दोषी कराकर देकर 11 माह की सजा सुनाई है। दोषी पर छह हजार रुपये जुर्माना भी लगाया गया है।

10 जनवरी 2009 को मुस्करा थानाक्षेत्र के उपनिरीक्षक मेवालाल गुप्ता अपने हमराही वंशगोपाल के साथ गश्त के लिए अलरा गौरा व गहरौली गांव के लिए रवाना हुए थे। अलरा गौरा गांव जाते समय पिपरिया बाबा पहाड़ी लिंक मार्ग पर एक व्यक्ति आ रहा है। पुलिस को देखकर वह भागने लगा। पुलिस ने उसे पकड़ लिया। पूछताछ में उसने अपना नाम छत्रपाल निवासी विजयपुर थाना कुलपहाड़, जिला महोबा, हाल निवासी अलरा गौरा थाना मुस्करा बताया था। उसके पास 150 नशीली डायजापाम की गोलियां मिलीं थीं। सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता प्रवीण भदौरिया व अशोक शुक्ला की दलीलों और साक्ष्यों के आधार पर कोर्ट ने आरोपी को दोषी करार दिया। (संवाद)



Source link