Hamara Kasba I Hindi News I Bundelkhand News

हिंदू किशोरी करीना ने कोर्ट को सुनाई जुल्म की दास्तां, अगवा कर मुस्लिम से जबरन करा दी थी शादी

ByNews Desk

Aug 12, 2022


ख़बर सुनें

पाकिस्तान के दक्षिणी सिंध प्रांत से छह जून को घर के बाहर से अगवा हिंदू किशोरी करीना कुमारी ने शुक्रवार को अदालत को खुद पर हुए जुल्मों की दास्तां सुनाई। उसने बताया कि जबरन धर्म परिवर्तन करा उसकी जून में ही मुस्लिम खलील से शादी करा दी गई थी। पाकिस्तान में अल्पसंख्यक महिलाओं के साथ ऐसी वारदात आम हैं।

सिंध के ग्रामीण इलाके में बेनजीर शहीदाबाद स्थित घर के बाहर से अगवा करीना के निर्धन पिता सुंदर मल ने उसे खोजने के लिए तमाम अफसरों के पास गुहार लगाई। बरामद कर उसे नवाबशाह की अदालत में पेश किया गया। उसने वीडियो माध्यम से दिए बयान में अदालत से अपील की कि उसे पिता के पास भेज दिया जाए। उसे फिलहाल महिला केंद्र भेजा गया है। 

करीना के पिता सुंदर मल ने कोर्ट से कहा, हम निर्धन लोग हैं। हमारे पास तो अदालत आने के लिए बस के किराए तक के पैसे नहीं हैं। मेरी बेटी ने कोर्ट में सच्चाई बताई है। उसे घर भेजकर अदालत को अपहरण कर उत्पीड़न करने वालों और लड़कियों को बेचने वालों को सजा देनी चाहिए। एजेंसी

ग्रामीण इलाकों में हिंदू लड़कियों को ज्यादा खतरा
करीना के पिता के वकील दिलीप कुमार मगलानी ने कहा, धर्म परिवर्तन कराने के चलन के कारण खासकर ग्रामीण इलाकों में हिंदू लड़कियां और उनके परिवार खतरे में हैं। हम अपनी ओर से कोशिश करते हैं, लेकिन ज्यादातर अपहृत लड़कियां नाबालिग होती हैं। अपहर्ता अदालत में गलत कागजात या प्रमाण पत्र पेश करते हैं और इसके बाद पुलिस भी मदद नहीं करती। इन लड़कियों के गरीब माता-पिता के पास बेटी की उम्र साबित करने के लिए कोई प्रमाण-पत्र या कागजात नहीं होता। पुलिस भी इसका लाभ उठाती है। माता-पिता को बेटी से मिलने तक नहीं दिया जाता।

मार्च में अपहृत तीन हिंदू लड़कियों का पता नहीं
इसी साल मार्च में तीन हिंदू लड़कियों सतरान ओड, कवीता भील और अनीता भील का अपहरण कर जबरन धर्म परिवर्तन करा दिया गया। आठ दिन के भीतर ही इनकी मुस्लिम व्यक्तियों से शादी करा दी गई। इसके बाद से इनका कोई पता नहीं है। रोहरी में 21 मार्च को पूजा कुमारी की घर के बाहर गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।

एक पाकिस्तानी व्यक्ति उससे शादी करना चाहता था और वह इनकार कर रही थी। कुछ दिन पहले उस व्यक्ति के दो साथियों ने पूजा पर गोली भी चलाई थी। पूजा के परिजनों ने रिपोर्ट दर्ज कराई, लेकिन आरोपियों की ऊंची पहुंच के कारण उन्हें समझौता करना पड़ा।

हिंदू महिलाएं भी बन रही हैं उत्पीड़न का निशाना
कम उम्र की बच्चियां ही नहीं, युवा हिंदू महिलाएं भी इनका बन रही हैं। सिंध के खिपरो में एजाज मारी नाम के व्यक्ति ने चार बच्चों की मां गौरी कोहली का उसके घर के बाहर से अपहरण कर लिया। जबरन धर्म परिवर्तन करा उसका एजाज से निकाह करा दिया गया। उसके पति का कहना है कि मारी का इलाके में प्रभाव है और पुलिस उसके खिलाफ कुछ नहीं करती। यहां तक कि पुलिस ने पत्नी को वापस लाने के नाम पर उससे 15,000 रुपये की रिश्वत भी ले ली।

विस्तार

पाकिस्तान के दक्षिणी सिंध प्रांत से छह जून को घर के बाहर से अगवा हिंदू किशोरी करीना कुमारी ने शुक्रवार को अदालत को खुद पर हुए जुल्मों की दास्तां सुनाई। उसने बताया कि जबरन धर्म परिवर्तन करा उसकी जून में ही मुस्लिम खलील से शादी करा दी गई थी। पाकिस्तान में अल्पसंख्यक महिलाओं के साथ ऐसी वारदात आम हैं।

सिंध के ग्रामीण इलाके में बेनजीर शहीदाबाद स्थित घर के बाहर से अगवा करीना के निर्धन पिता सुंदर मल ने उसे खोजने के लिए तमाम अफसरों के पास गुहार लगाई। बरामद कर उसे नवाबशाह की अदालत में पेश किया गया। उसने वीडियो माध्यम से दिए बयान में अदालत से अपील की कि उसे पिता के पास भेज दिया जाए। उसे फिलहाल महिला केंद्र भेजा गया है। 

करीना के पिता सुंदर मल ने कोर्ट से कहा, हम निर्धन लोग हैं। हमारे पास तो अदालत आने के लिए बस के किराए तक के पैसे नहीं हैं। मेरी बेटी ने कोर्ट में सच्चाई बताई है। उसे घर भेजकर अदालत को अपहरण कर उत्पीड़न करने वालों और लड़कियों को बेचने वालों को सजा देनी चाहिए। एजेंसी

ग्रामीण इलाकों में हिंदू लड़कियों को ज्यादा खतरा

करीना के पिता के वकील दिलीप कुमार मगलानी ने कहा, धर्म परिवर्तन कराने के चलन के कारण खासकर ग्रामीण इलाकों में हिंदू लड़कियां और उनके परिवार खतरे में हैं। हम अपनी ओर से कोशिश करते हैं, लेकिन ज्यादातर अपहृत लड़कियां नाबालिग होती हैं। अपहर्ता अदालत में गलत कागजात या प्रमाण पत्र पेश करते हैं और इसके बाद पुलिस भी मदद नहीं करती। इन लड़कियों के गरीब माता-पिता के पास बेटी की उम्र साबित करने के लिए कोई प्रमाण-पत्र या कागजात नहीं होता। पुलिस भी इसका लाभ उठाती है। माता-पिता को बेटी से मिलने तक नहीं दिया जाता।

मार्च में अपहृत तीन हिंदू लड़कियों का पता नहीं

इसी साल मार्च में तीन हिंदू लड़कियों सतरान ओड, कवीता भील और अनीता भील का अपहरण कर जबरन धर्म परिवर्तन करा दिया गया। आठ दिन के भीतर ही इनकी मुस्लिम व्यक्तियों से शादी करा दी गई। इसके बाद से इनका कोई पता नहीं है। रोहरी में 21 मार्च को पूजा कुमारी की घर के बाहर गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।

एक पाकिस्तानी व्यक्ति उससे शादी करना चाहता था और वह इनकार कर रही थी। कुछ दिन पहले उस व्यक्ति के दो साथियों ने पूजा पर गोली भी चलाई थी। पूजा के परिजनों ने रिपोर्ट दर्ज कराई, लेकिन आरोपियों की ऊंची पहुंच के कारण उन्हें समझौता करना पड़ा।

हिंदू महिलाएं भी बन रही हैं उत्पीड़न का निशाना

कम उम्र की बच्चियां ही नहीं, युवा हिंदू महिलाएं भी इनका बन रही हैं। सिंध के खिपरो में एजाज मारी नाम के व्यक्ति ने चार बच्चों की मां गौरी कोहली का उसके घर के बाहर से अपहरण कर लिया। जबरन धर्म परिवर्तन करा उसका एजाज से निकाह करा दिया गया। उसके पति का कहना है कि मारी का इलाके में प्रभाव है और पुलिस उसके खिलाफ कुछ नहीं करती। यहां तक कि पुलिस ने पत्नी को वापस लाने के नाम पर उससे 15,000 रुपये की रिश्वत भी ले ली।



Source link