5जी पर आईटी मिनिस्टर का बड़ा एलान, देश में इस तारीख से शुरू हो सकती है सेवा


ख़बर सुनें

केंद्रीय सूचना और तकनीक मंत्री (IT Minister) अश्विनी वैष्णव ने कहा है कि हम देश में 5जी सेवाओं को तेजी से शुरू करने की योजना बना रहे हैं। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि दूरसंचार कंपनियां इस इस संबंध में काम कर रहे हैं और तकनीकी इंस्टालेशंस किए जा रहे हैं। केंद्रीय मंत्री ने उम्मीद जतायी है कि देश में अक्तूबर तक 5जी सेवा शुरू हो जाएगी। उसके बाद  शहरों और कस्बों में इसका विस्तार किया जाएगा। 

तीन वर्षों में देश के हर हिस्से में पहुंचेगा 5जी 

वैष्णव ने कहा, ‘हमें उम्मीद है कि अगले दो से तीन वर्षों में 5जी देश के हर हिस्से में पहुंच जाएगा। हम यह भी सुनिश्चित करेंगे कि यह किफायती रहे। दूरसंचार उद्योग 5जी सेवाओं के विस्तार के लिए शहरी और ग्रामीण दोनों क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित कर रहा है।’ 

5जी सेवाओं की कीमतें रहेंगी अफोर्डेबल

बता दें कि इससे पहले इस महीने की शुरुआत में भी केंद्रीय मंत्री वैष्णव कह चुके हैं कि देश में अक्तूबर महीने से 5जी सेवाओं की शुरुआत हो सकती है। उस दौरान कंद्रीय मंत्री ने कहा था कि भारत का टेलीकॉम मार्केट दुनिया में सबसे सस्ता मार्केट है। देश में 5G सेवा की कीमतें भी अफोर्डेबल होंगी, आम आदमी भी 5G सेवाओं का लाभ ले पाएगा। 

भारत में नहीं होगा 5जी से रेडिएशन का खतरा 

इलेक्ट्रोमैग्नेटिक रेडिएशन (Electro-Magnetic Radiation) से नुकसान के सवाल पर केंद्रीय मंत्री वैष्णव ने कहा था कि हमारे यहां रेडियेशन का लेवल अमेरिका और यूरोप से भी 10 गुना कम रहेगा, जिससे यहां रेडियेशन का खतरा नहीं रहेगा। 

5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी में इन कंपनियों ने हासिल किए हैं स्पेक्ट्रम 

आपको बता दें कि देश में 5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी पूरी हो चुकी है। देश में कुल 1,50,173 करोड़ रुपये के 5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी की गई है। देश की तीन कंपनियों ने सबसे ज्यादा स्पेक्ट्रम खरीदे हैं, जिसमें रिलायंस जियो ने  24,740Mhz स्पेक्ट्रम, भारती एयरटेल ने 19867Mhz स्पेक्ट्रम और वोडाफोन-आइडिया ने 6228Mhz स्पेक्ट्रम की खरीदारी की है। नई कंपनी के तौर पर अदाणी डाटा नेटवर्क भी 5जी की दौड़ में शामिल हुई है।

विस्तार

केंद्रीय सूचना और तकनीक मंत्री (IT Minister) अश्विनी वैष्णव ने कहा है कि हम देश में 5जी सेवाओं को तेजी से शुरू करने की योजना बना रहे हैं। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि दूरसंचार कंपनियां इस इस संबंध में काम कर रहे हैं और तकनीकी इंस्टालेशंस किए जा रहे हैं। केंद्रीय मंत्री ने उम्मीद जतायी है कि देश में अक्तूबर तक 5जी सेवा शुरू हो जाएगी। उसके बाद  शहरों और कस्बों में इसका विस्तार किया जाएगा। 

तीन वर्षों में देश के हर हिस्से में पहुंचेगा 5जी 

वैष्णव ने कहा, ‘हमें उम्मीद है कि अगले दो से तीन वर्षों में 5जी देश के हर हिस्से में पहुंच जाएगा। हम यह भी सुनिश्चित करेंगे कि यह किफायती रहे। दूरसंचार उद्योग 5जी सेवाओं के विस्तार के लिए शहरी और ग्रामीण दोनों क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित कर रहा है।’ 

5जी सेवाओं की कीमतें रहेंगी अफोर्डेबल

बता दें कि इससे पहले इस महीने की शुरुआत में भी केंद्रीय मंत्री वैष्णव कह चुके हैं कि देश में अक्तूबर महीने से 5जी सेवाओं की शुरुआत हो सकती है। उस दौरान कंद्रीय मंत्री ने कहा था कि भारत का टेलीकॉम मार्केट दुनिया में सबसे सस्ता मार्केट है। देश में 5G सेवा की कीमतें भी अफोर्डेबल होंगी, आम आदमी भी 5G सेवाओं का लाभ ले पाएगा। 

भारत में नहीं होगा 5जी से रेडिएशन का खतरा 

इलेक्ट्रोमैग्नेटिक रेडिएशन (Electro-Magnetic Radiation) से नुकसान के सवाल पर केंद्रीय मंत्री वैष्णव ने कहा था कि हमारे यहां रेडियेशन का लेवल अमेरिका और यूरोप से भी 10 गुना कम रहेगा, जिससे यहां रेडियेशन का खतरा नहीं रहेगा। 

5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी में इन कंपनियों ने हासिल किए हैं स्पेक्ट्रम 

आपको बता दें कि देश में 5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी पूरी हो चुकी है। देश में कुल 1,50,173 करोड़ रुपये के 5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी की गई है। देश की तीन कंपनियों ने सबसे ज्यादा स्पेक्ट्रम खरीदे हैं, जिसमें रिलायंस जियो ने  24,740Mhz स्पेक्ट्रम, भारती एयरटेल ने 19867Mhz स्पेक्ट्रम और वोडाफोन-आइडिया ने 6228Mhz स्पेक्ट्रम की खरीदारी की है। नई कंपनी के तौर पर अदाणी डाटा नेटवर्क भी 5जी की दौड़ में शामिल हुई है।



Source link