Hamara Kasba I Hindi News I Bundelkhand News

महोबा : मोहर्रम की नौंवी को निकाला गया ताजिया जुलूस

ByNews Desk

Aug 9, 2022


ख़बर सुनें

महोबा। हजरत इमाम हुसैन की याद में मोहर्रम की नौवीं पर जिले भर में ताजिया जुलूस निकाले गए। मातमी धुनों के बीच अकीदतमंदों ने अलाव खेला। जुलूस पर लंगर भी लुटाए गए।
शहर के मोहल्ला भटीपुरा से निकला ताजिया जुलूस दरियापुरा तिराहे पहुंचा। वहां जलसे के दौरान हसन-हुसैन की सदाएं गूंजती रहीं। यहां से जुलूस काजीपुरा पहुंचा। मिल्कीपुरा, चौसियापुरा, दरियापुरा, पठानपुरा व शाहपहाड़ी के ताजिये देर रात पहुंचे। जुलूस पर जगह-जगह लंगर लुटाए गए।
चरखारी संवाद के अनुसार तुर्कियाना मोहल्ले से ताजिया जुलूस कजियाना, गोलाघाट चौराहा, घड़ी मस्जिद, हाथी खाना, पचराहा होते हुए शिया करबला पहुंचा। वहां ताजियों को सुपुर्द-ए-खाक किया गया। शिया समुदाय के लखनऊ से आए मौलाना अफजल हुसैन, मौलाना अली जैदी, वसीम हैदर, सिराज महमूद आदि शामिल रहे।
कुलपहाड़ संवाद के अनुसार सुगिरा गांव से चार ताजिया निकाले गए। जिसमें हिंदू-मुस्लिम समाज के लोगों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। श्रीनगर संवाद के अनुसार कस्बे के रामलीलाल मैदान में अलाव खेला गया। मातमी धुनों के बीच अकीदतमंदों ने दहकते अंगारों को उछाला। अलाव देखने के लिए लोगों की भारी भीड़ जुटी रही। अजनर संवाद के अनुसार नूरी जामा मस्जिद से करबला तक ताजिया जुलूस निकाला गया।

महोबा। हजरत इमाम हुसैन की याद में मोहर्रम की नौवीं पर जिले भर में ताजिया जुलूस निकाले गए। मातमी धुनों के बीच अकीदतमंदों ने अलाव खेला। जुलूस पर लंगर भी लुटाए गए।

शहर के मोहल्ला भटीपुरा से निकला ताजिया जुलूस दरियापुरा तिराहे पहुंचा। वहां जलसे के दौरान हसन-हुसैन की सदाएं गूंजती रहीं। यहां से जुलूस काजीपुरा पहुंचा। मिल्कीपुरा, चौसियापुरा, दरियापुरा, पठानपुरा व शाहपहाड़ी के ताजिये देर रात पहुंचे। जुलूस पर जगह-जगह लंगर लुटाए गए।

चरखारी संवाद के अनुसार तुर्कियाना मोहल्ले से ताजिया जुलूस कजियाना, गोलाघाट चौराहा, घड़ी मस्जिद, हाथी खाना, पचराहा होते हुए शिया करबला पहुंचा। वहां ताजियों को सुपुर्द-ए-खाक किया गया। शिया समुदाय के लखनऊ से आए मौलाना अफजल हुसैन, मौलाना अली जैदी, वसीम हैदर, सिराज महमूद आदि शामिल रहे।

कुलपहाड़ संवाद के अनुसार सुगिरा गांव से चार ताजिया निकाले गए। जिसमें हिंदू-मुस्लिम समाज के लोगों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। श्रीनगर संवाद के अनुसार कस्बे के रामलीलाल मैदान में अलाव खेला गया। मातमी धुनों के बीच अकीदतमंदों ने दहकते अंगारों को उछाला। अलाव देखने के लिए लोगों की भारी भीड़ जुटी रही। अजनर संवाद के अनुसार नूरी जामा मस्जिद से करबला तक ताजिया जुलूस निकाला गया।



Source link