महोबा : सुनो गौर से दुनिया वालो गीत पर दर्शकों के बीच पहुंच झूमे कलाकार


ख़बर सुनें

महोबा। ऐतिहासिक कजली मेले की अंतिम शाम बॉलीवुड सूफी गायकों ने समा बांधा। मेसी ग्रुप लखनऊ के कलाकारों ने देवा श्रीगणेशा गीत भगवान गजानन की वंदना की तो आशू बजाज ने सुनो गौर से दुनिया वालों बुरी नजर न हम पर डालो गीत से जोश भर दिया। दर्शकों ने सेल्फी लेकर और वीडियो बनाकर गीत की लाइनें दोहराईं।
आशू बजाज ने लाल मेरी पत रखियो भला झूले लालन व छाप तिलक सब छीनी रे तौसे नैना मिलाइके गीत से माहौल सूफियाना कर दिया। इसके बाद नागपुर की श्रुति जैन ने अब के सावन ऐसे बरसो गीत सुनाया। गायक अतुल पंडित ने रमता जोगी, तुमसे मिलके दिल का है जो हाल क्या करें सुनाकर युवाओं में जोश भरा। टिप टिप बरसा पानी, दिलबर-दिलबर, किसी डिस्को में जाए व कजरा मोहब्बत वाला जैसे गीतों की संयुक्त प्रस्तुति से दर्शकों को बांधे रखा। बाद में गायकों ने यमला पगला दीवाना, पल्लू लटके, बल्ले-बल्ले, दिल लेना है दिलदार का, महबूबा, अंग्रेजी बीट दे व यम्मा यम्मा सुनाया। डीएम की प्रशंसा पर आशू बजाज ने मैं जहां रहूं सुनाया। अंत में नैना ठग लेंगे प्रस्तुति के साथ कार्यक्रम का समापन हुआ। आठ दिन तक चले कार्यक्रमों का संचालन अपर्णा नायक ने किया।
इंसेट
मंडलायुक्त व डीआईजी ने किया सम्मानित
कजली मेले के समापन पर मंडलायुक्त आरपी सिंह व पुलिस उप महानिरीक्षक विपिन कुमार मिश्रा ने कलाकारों, मेधावियों, स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के परिजनों, प्रगतिशील किसानों व व्यापारियों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। मंडलायुक्त ने कहा कि बुंदेलखंड क्षेत्र का यह अति प्राचीन मेला है, जो जिले के इतिहास व गौरव को दर्शाता है। इस मौके पर डीएम मनोज कुमार, एसपी सुधा सिंह, पूर्व सांसद गंगाचरण राजपूत, पालिका अध्यक्ष दिलाशा सौरभ तिवारी, एडीएम आरएस वर्मा, एसडीएम जितेंद्र सिंह, स्वेता पांडेय समेत जिलास्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।
इंसेट
उन्नाव की आल्हा गायिका नैना ने भरा जोश
कजली मेले की अंतिम शाम की शुरूआत आल्हा गायन से हुई। उन्नाव से आईं आल्हा गायिका नैना ने आल्हा-ऊदल की वीरता का बखान किया। बड़े लड़इया गढ़ महुबे के जिनसे हार गई तलवार की पंक्तियां वीर रस में सुनाकर बुंदेलों में जोश भरा। इसके बाद आल्हा गायक रामनारायण सिंह ने भुजरियों की लड़ाई का वर्णन सुनाया।

सुनो गौर से दुनिया वालों गीत पर अंतिम प्रस्तुति देते मेसी ग्रुप लखनऊ के गायक।

सुनो गौर से दुनिया वालों गीत पर अंतिम प्रस्तुति देते मेसी ग्रुप लखनऊ के गायक।– फोटो : MAHOBA

महोबा। ऐतिहासिक कजली मेले की अंतिम शाम बॉलीवुड सूफी गायकों ने समा बांधा। मेसी ग्रुप लखनऊ के कलाकारों ने देवा श्रीगणेशा गीत भगवान गजानन की वंदना की तो आशू बजाज ने सुनो गौर से दुनिया वालों बुरी नजर न हम पर डालो गीत से जोश भर दिया। दर्शकों ने सेल्फी लेकर और वीडियो बनाकर गीत की लाइनें दोहराईं।

आशू बजाज ने लाल मेरी पत रखियो भला झूले लालन व छाप तिलक सब छीनी रे तौसे नैना मिलाइके गीत से माहौल सूफियाना कर दिया। इसके बाद नागपुर की श्रुति जैन ने अब के सावन ऐसे बरसो गीत सुनाया। गायक अतुल पंडित ने रमता जोगी, तुमसे मिलके दिल का है जो हाल क्या करें सुनाकर युवाओं में जोश भरा। टिप टिप बरसा पानी, दिलबर-दिलबर, किसी डिस्को में जाए व कजरा मोहब्बत वाला जैसे गीतों की संयुक्त प्रस्तुति से दर्शकों को बांधे रखा। बाद में गायकों ने यमला पगला दीवाना, पल्लू लटके, बल्ले-बल्ले, दिल लेना है दिलदार का, महबूबा, अंग्रेजी बीट दे व यम्मा यम्मा सुनाया। डीएम की प्रशंसा पर आशू बजाज ने मैं जहां रहूं सुनाया। अंत में नैना ठग लेंगे प्रस्तुति के साथ कार्यक्रम का समापन हुआ। आठ दिन तक चले कार्यक्रमों का संचालन अपर्णा नायक ने किया।

इंसेट

मंडलायुक्त व डीआईजी ने किया सम्मानित

कजली मेले के समापन पर मंडलायुक्त आरपी सिंह व पुलिस उप महानिरीक्षक विपिन कुमार मिश्रा ने कलाकारों, मेधावियों, स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के परिजनों, प्रगतिशील किसानों व व्यापारियों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। मंडलायुक्त ने कहा कि बुंदेलखंड क्षेत्र का यह अति प्राचीन मेला है, जो जिले के इतिहास व गौरव को दर्शाता है। इस मौके पर डीएम मनोज कुमार, एसपी सुधा सिंह, पूर्व सांसद गंगाचरण राजपूत, पालिका अध्यक्ष दिलाशा सौरभ तिवारी, एडीएम आरएस वर्मा, एसडीएम जितेंद्र सिंह, स्वेता पांडेय समेत जिलास्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।

इंसेट

उन्नाव की आल्हा गायिका नैना ने भरा जोश

कजली मेले की अंतिम शाम की शुरूआत आल्हा गायन से हुई। उन्नाव से आईं आल्हा गायिका नैना ने आल्हा-ऊदल की वीरता का बखान किया। बड़े लड़इया गढ़ महुबे के जिनसे हार गई तलवार की पंक्तियां वीर रस में सुनाकर बुंदेलों में जोश भरा। इसके बाद आल्हा गायक रामनारायण सिंह ने भुजरियों की लड़ाई का वर्णन सुनाया।

सुनो गौर से दुनिया वालों गीत पर अंतिम प्रस्तुति देते मेसी ग्रुप लखनऊ के गायक।

सुनो गौर से दुनिया वालों गीत पर अंतिम प्रस्तुति देते मेसी ग्रुप लखनऊ के गायक।– फोटो : MAHOBA



Source link