महोबाद के क्रशर संचालकों ने उठाई बीस घंटे बिजली आपूर्ति की मांग


ख़बर सुनें

कबरई (महोबा)। पत्थर मंडी कबरई में अघोषित बिजली कटौती से क्रशर संचालक भड़क उठे हैं। शनिवार को संचालकों ने बिजली विभाग के अधीक्षण अभियंता आरएस गौतम को शिकायती पत्र सौंपा। जिसमें अघोषित बिजली कटौती से व्यापार चौपट होने का आरोप लगाया है। उन्होंने प्रतिदिन बीस घंटे आपूर्ति की मांग उठाई।
खनन एवं क्रशर उद्योग कल्याण समिति के बालकिशोर द्विवेदी, रूपेंद्र सिंह, देवेंद्र मिश्रा आदि ने सौंपे शिकायती पत्र में बताया कि जिले का स्टोन क्रशर उद्योग कोरोना महामारी के चलते पूरी तरह बंद हो गया था। वर्तमान में 300 के स्थान पर 25 फीसदी ही क्रशर प्लांट संचालित हैं। शासन द्वारा 20 घंटे आपूर्ति के निर्देश हैं लेकिन आठ घंटे ही बिजली मिल रही है। अघोषित कटौती व फाल्ट होने से घंटों आपूर्ति ठप रहती है। जिससे क्रशर प्लांट नहीं चल पा रहे हैं। उन्होंने कबरई, अलीपुरा, पहरा समेत सभी फीडरों से प्लांटों को दी जाने वाली बिजली आपूर्ति 20 घंटे किए जाने की मांग की। अधीक्षण अभियंता ने उच्चाधिकारियों को मामले से अवगत कराकर समस्या का समाधान कराने का भरोसा दिया।

कबरई (महोबा)। पत्थर मंडी कबरई में अघोषित बिजली कटौती से क्रशर संचालक भड़क उठे हैं। शनिवार को संचालकों ने बिजली विभाग के अधीक्षण अभियंता आरएस गौतम को शिकायती पत्र सौंपा। जिसमें अघोषित बिजली कटौती से व्यापार चौपट होने का आरोप लगाया है। उन्होंने प्रतिदिन बीस घंटे आपूर्ति की मांग उठाई।

खनन एवं क्रशर उद्योग कल्याण समिति के बालकिशोर द्विवेदी, रूपेंद्र सिंह, देवेंद्र मिश्रा आदि ने सौंपे शिकायती पत्र में बताया कि जिले का स्टोन क्रशर उद्योग कोरोना महामारी के चलते पूरी तरह बंद हो गया था। वर्तमान में 300 के स्थान पर 25 फीसदी ही क्रशर प्लांट संचालित हैं। शासन द्वारा 20 घंटे आपूर्ति के निर्देश हैं लेकिन आठ घंटे ही बिजली मिल रही है। अघोषित कटौती व फाल्ट होने से घंटों आपूर्ति ठप रहती है। जिससे क्रशर प्लांट नहीं चल पा रहे हैं। उन्होंने कबरई, अलीपुरा, पहरा समेत सभी फीडरों से प्लांटों को दी जाने वाली बिजली आपूर्ति 20 घंटे किए जाने की मांग की। अधीक्षण अभियंता ने उच्चाधिकारियों को मामले से अवगत कराकर समस्या का समाधान कराने का भरोसा दिया।



Source link