क्यूबा के तेल भंडार पर कहर बनकर टूटी आकाशीय बिजली, 121 लोग गंभीर रूप से घायल, 17 लापता


ख़बर सुनें

क्यूबा के मतंजस शहर में शनिवार को एक तेल भंडारण में आकाशीय बिजली गिरने से लगी आग अनियंत्रित हो गई। देखते ही देखते आसपास के इलाके धमाकों से गूंजने लगे। वहीं आग की लपटें इतनी तेज थी कि लोगों को संभलने का मौका तक नहीं दिया। अधिकारियों के मुताबिक इस भीषण आग में 121 लोग घायल हो गए और 17 दमकलकर्मी लापता हो गए। ऊर्जा मंत्रालय ने ट्वीट कर कहा कि अग्निशमनकर्मी और अन्य विशेषज्ञ आग पर काबू पाने का प्रयास कर रहे हैं।

100 किलोमीटर तक फैला धुएं का गुबार
आधिकारिक क्यूबा समाचार एजेंसी ने कहा कि तेज आंधी के बाद आकाशीय बिजली एक टैंक पर  गिरी  जिससे आग लग गई और देखते ही देखते दूसरे टैंक में फैल गई। इसके बाद जैसे ही सैन्य हेलीकॉप्टरों ने आग पर पानी गिराते हुए उड़ान भरी, काले धुएं का गुबार हवाना की ओर 100 किलोमीटर (62 मील) से अधिक पश्चिम की ओर फैल गया।

थोड़ी देर हो जाती तो कई लोगों की जान चली जाती
इस घटना के बारे में ऊर्जा और खान मंत्रालय ने ट्वीट कर बताया कि अग्निशमनकर्मी और अन्य विशेषज्ञ आग पर काबू पाने का प्रयास कर रहे हैं। जहां शुक्रवार रात आंधी के दौरान आग लग गई थी। अधिकारियों ने कहा कि लगभग 800 लोगों को आग की लपटों से बचाया गया। अधिकारियों ने कहा कि अगर थोड़ी देर हो जाती तो कई लोगों की जान चली जाती।

कई पड़ोसी देशों ने की मदद की पेशकश
सरकार ने कहा कि तेल क्षेत्र में अनुभव वाले मित्र देशों के अंतरराष्ट्रीय विशेषज्ञों से मदद मांगी थी। उप विदेश मंत्री कार्लोस फर्नांडीज डी कोसियो ने कहा कि अमेरिकी सरकार ने आग बुझाने के लिए तकनीकी मदद की पेशकश की थी।  वहीं कुछ मिनट बाद, राष्ट्रपति मिगुएल डियाज-कैनेल ने मेक्सिको, वेनेजुएला, रूस, निकारागुआ, अर्जेंटीना और चिली को उनकी मदद की पेशकश के लिए धन्यवाद दिया। 

विस्तार

क्यूबा के मतंजस शहर में शनिवार को एक तेल भंडारण में आकाशीय बिजली गिरने से लगी आग अनियंत्रित हो गई। देखते ही देखते आसपास के इलाके धमाकों से गूंजने लगे। वहीं आग की लपटें इतनी तेज थी कि लोगों को संभलने का मौका तक नहीं दिया। अधिकारियों के मुताबिक इस भीषण आग में 121 लोग घायल हो गए और 17 दमकलकर्मी लापता हो गए। ऊर्जा मंत्रालय ने ट्वीट कर कहा कि अग्निशमनकर्मी और अन्य विशेषज्ञ आग पर काबू पाने का प्रयास कर रहे हैं।

100 किलोमीटर तक फैला धुएं का गुबार

आधिकारिक क्यूबा समाचार एजेंसी ने कहा कि तेज आंधी के बाद आकाशीय बिजली एक टैंक पर  गिरी  जिससे आग लग गई और देखते ही देखते दूसरे टैंक में फैल गई। इसके बाद जैसे ही सैन्य हेलीकॉप्टरों ने आग पर पानी गिराते हुए उड़ान भरी, काले धुएं का गुबार हवाना की ओर 100 किलोमीटर (62 मील) से अधिक पश्चिम की ओर फैल गया।

थोड़ी देर हो जाती तो कई लोगों की जान चली जाती

इस घटना के बारे में ऊर्जा और खान मंत्रालय ने ट्वीट कर बताया कि अग्निशमनकर्मी और अन्य विशेषज्ञ आग पर काबू पाने का प्रयास कर रहे हैं। जहां शुक्रवार रात आंधी के दौरान आग लग गई थी। अधिकारियों ने कहा कि लगभग 800 लोगों को आग की लपटों से बचाया गया। अधिकारियों ने कहा कि अगर थोड़ी देर हो जाती तो कई लोगों की जान चली जाती।

कई पड़ोसी देशों ने की मदद की पेशकश

सरकार ने कहा कि तेल क्षेत्र में अनुभव वाले मित्र देशों के अंतरराष्ट्रीय विशेषज्ञों से मदद मांगी थी। उप विदेश मंत्री कार्लोस फर्नांडीज डी कोसियो ने कहा कि अमेरिकी सरकार ने आग बुझाने के लिए तकनीकी मदद की पेशकश की थी।  वहीं कुछ मिनट बाद, राष्ट्रपति मिगुएल डियाज-कैनेल ने मेक्सिको, वेनेजुएला, रूस, निकारागुआ, अर्जेंटीना और चिली को उनकी मदद की पेशकश के लिए धन्यवाद दिया। 



Source link