लाल सिंह चड्ढा’ के बहिष्कार से मुकेश अंबानी को मोटा नुकसान, समझिए फिल्ममेकिंग का दिलचस्प गुणा भाग


निर्माता, निर्देशक, अभिनेता आमिर खान की कंपनी आमिर खान प्रोडक्शंस की साझेदारी में बनी वॉयकॉम18 स्टूडियोज की ताजा तरीन फिल्म ‘लाल सिंह चड्ढा’ सोशल मीडिया पर उन लोगों के निशाने पर आने से नुकसान में जाती दिख रही है, जो आमिर खान को अरसे से निशाना बनाते आ रहे हैं। फिल्म बनाने में पूरा पैसा वॉयकॉम18 स्टूडियोज और पैरामाउंट पिक्चर्स का लगा है। आमिर खान अपनी फीस और इस फिल्म को बनाने में आए खर्च की वसूली कर पहले ही अपना हिसाब कर चुके हैं। अब अगर फिल्म को नुकसान होता है तो इसका सीधा खामियाजा वॉयकॉम18 स्टूडियोज को उठाना पड़ेगा। और, ये बात सोशल मीडिया पर फिल्म का बहिष्कार कर रहे लोगों में से गिनती के लोगों को ही मालूम है कि इस स्टूडियो के नियंत्रक अधिकार मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज के पास हैं। यानी कि फिल्म ‘लाल सिंह चड्ढा’ का बहिष्कार कर लोगों ने सीधे सीधे मुकेश अंबानी की कंपनी को नुकसान पहुंचा दिया है।

वॉयकॉम18 पर रिलायंस समूह का नियंत्रण

फिल्म ‘लाल सिंह चड्ढा’ बनाने वाली भारतीय कंपनी वॉयकॉम18 मीडिया प्राइवेट लिमिटेड मुंबई स्थित कंपनी है और ये टीवी18 समूह और पैरामाउंट ग्लोबल का साझा उपक्रम है। चार साल पहले ही इस कंपनी में टीवी18 ने अपनी हिस्सेदारी बढ़ाकर 51 फीसदी की थी। टीवी18 दरअसल नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट समूह की प्रसारण कारोबार शाखा है, जिसका नियंत्रण इंडिपेंडेंट मीडिया ट्रस्ट के पास है और ये ट्रस्ट सीधे रिलायंस इंडस्ट्रीज के स्वामित्व में काम करता है। नेटवर्क18 के पास भारत के 26 राज्यों में 12 भाषाओं में चलने वाले चैनल हैं। वॉयकॉम18 के जरिये ये समूह कलर्स, निकेलोडियन और एमटीवी चैनल भी चलाता है। ओटीटी प्लेटफॉर्म वूट भी इसी का हिस्सा है। रिलायंस समूह की फिल्म संबंधी सारी गतिविधियां देखती रहीं जियो स्टूडियोज की सीईओ ज्योति देशपांडे अब वॉयकॉम18 की भी सीईओ बन चुकी हैं। फिल्म ‘लाल सिंह चड्ढा’ में ज्योति देशपांडे का नाम इसके निर्माताओं में प्रमुख रूप से शामिल है। वॉयकॉम18 के मुख्य संचालन अधिकारी अजित अंधारे भी फिल्म ‘लाल सिंह चड्ढा’ के निर्माताओं में से एक हैं।

स्टूडियो की महीने भर में दूसरी फिल्म फ्लॉप

वॉयकॉम18 की 12 जुलाई को रिलीज फिल्म ‘शाबाश मिथु’ बॉक्स ऑफिस पर बुरी तरह फ्लॉप रही है। इस फिल्म को बनाने को लेकर भी इसके पहले निर्देशक राहुल ढोलकिया संग फिल्म कंपनी का लंबे समय तक विवाद चला और जब राहुल ढोलकिया की बात नहीं मानी गई तो वह फिल्म से अलग हो गए। बाद में इस फिल्म को सृजित मुखर्जी ने पूरा किया। फिल्म ‘लाल सिंह चड्ढा’ भी अपने निर्माण के समय से ही किसी न किसी बात को लेकर विवादित रही है। पहले कोरोना काल में इसकी शूटिंग तुर्की में करने का मन बनाने पर आमिर खान खूब ट्रोल हुए। और, अब जब फिल्म रिलीज हो चुकी है तो इसके बहिष्कार की मुहिम एक खास वर्ग ने चला रखी है।

दूसरे दिन तेजी से गिरा कलेक्शन

आमिर खान का सोशल मीडिया पर विरोध उनके उस बयान को लेकर होता रहा है जिसमें कथित रूप से उन्होंने देश में बदले माहौल में अपने परिवार की सुरक्षा को लेकर चिंता जताई थी। वह नर्मदा बचाओ आंदोलन के दौरान मेधा पाटकर का समर्थन भी कर चुके हैं। आमिर की पिछली फिल्म ‘ठग्स ऑफ हिंदोस्तां’ जबर्दस्त ओपनिंग के बावजूद फ्लॉप रही थी। उसके चार साल बाद अब रिलीज हुई फिल्म ‘लाल सिंह चड्ढा’ की ओपनिंग ही खराब रही है। पहले दिन करीब 12 करोड़ रुपये कमाने वाली फिल्म का दूसरे दिन का कलेक्शन और नीचे आकर 7.50 करोड़ रुपये के करीब रहा है। करीब 180 करोड़ रुपये की लागत से बनी फिल्म ‘लाल सिंह चड्ढा’ को बॉक्स ऑफिस पर कम से कम 150 करोड़ रुपये की कमाई करनी होगी, सिनेमाघरों में रिलीज से कम से कम 60 करोड़ रुपये की कमाई करने के लिए।

वॉयकॉम18 में हड़कंप सी स्थिति

फिल्म ‘लाल सिंह चड्ढा’ की ओटीटी रिलीज और सेटेलाइट प्रसारण से फिल्म को करीब सवा सौ करोड़ रुपये का मुनाफा होने की उम्मीद की जा रही है। ऐसी सूरत में अगर फिल्म बॉक्स ऑफिस पर पिटी तो ये वॉयकॉम18 की टीम के लिए काफी मुसीबत खड़ी करने वाली है। फिल्म ‘लाल सिंह चड्ढा’ की रिलीज से पहले और इसके बाद भी वॉयकॉम18 स्टूडियो में खासी हलचल रही है। फिल्म को कागज पर मुनाफे में लाने के लिए भी तमाम जोड़ घटाने किए गए। लेकिन, मामला सही बैठ नहीं रहा। अब सोशल मीडिया पर जिस तरह से फिल्म ‘लाल सिंह चड्ढा के खिलाफ मुहिम छिड़ी हुई है, उसने कंपनी के अधिकारियों को नए सिरे से रणनीति बनाने पर मजबूर कर दिया है। कंपनी के सारे अधिकारी बीते तीन दिन से लगातार एक दूसरे से चर्चा कर रहे हैं और किसी तरह इस संकट से बाहर आने की जुगत भिड़ा रहे हैं।



Source link