हमीरपुर : सुबह था साक्षात्कार और शाम को घर पहुंचा कॉल लेटर


ख़बर सुनें

मौदहा (हमीरपुर)। कस्तूरबा स्कूल में रसोइया पद पर आठ अगस्त को सुबह विकास भवन में साक्षात्कार हो गया और आवेदक को शाम को कॉल लेटर मिला। आवेदक ने शिक्षा विभाग के अधिकारियों पर षड़यंत्र का आरोप लगाया है।
कस्तूरबा आवासीय बालिका विद्यालय में सहायक रसोइया पद एक वर्ष पूर्व भर्ती निकाली गई थी। कई लोगों ने इसके लिए फार्म भरे थे। फार्म भरने वालों में पूर्वी तरौस निवासी इंद्रा भी शामिल हैं। उन्होंने बताया कि सोमवार (आठ अगस्त) को शाम पांच बजे कॉल लेटर (बुलावा पत्र) मिला। उसमें लिखा था कि आठ अगस्त को सुबह दस बजे विकास भवन कुछेछा पहुंच मूल अभिलेखों का सत्यापन करा लें। समय से न पहुंचने पर आपकी भर्ती पर विचार नहीं किया जाएगा।
इंद्रा का आरोप है कि भर्ती में शिक्षा विभाग ने षड्यंत्र किया है। इसी वजह से कॉल लेटर देर से भेजा गया। कहा कि इसकी शिकायत उच्चाधिकारियों से करेंगी। डाकिया इकबाल ने बताया की पत्र रजिस्टर्ड डाक से चार तारीख को हमीरपुर से चला था और आठ को मौदहा आ है। कस्बे के करीब छह लोगों को देरी से कॉल लेटर मिले हैं।

मौदहा (हमीरपुर)। कस्तूरबा स्कूल में रसोइया पद पर आठ अगस्त को सुबह विकास भवन में साक्षात्कार हो गया और आवेदक को शाम को कॉल लेटर मिला। आवेदक ने शिक्षा विभाग के अधिकारियों पर षड़यंत्र का आरोप लगाया है।

कस्तूरबा आवासीय बालिका विद्यालय में सहायक रसोइया पद एक वर्ष पूर्व भर्ती निकाली गई थी। कई लोगों ने इसके लिए फार्म भरे थे। फार्म भरने वालों में पूर्वी तरौस निवासी इंद्रा भी शामिल हैं। उन्होंने बताया कि सोमवार (आठ अगस्त) को शाम पांच बजे कॉल लेटर (बुलावा पत्र) मिला। उसमें लिखा था कि आठ अगस्त को सुबह दस बजे विकास भवन कुछेछा पहुंच मूल अभिलेखों का सत्यापन करा लें। समय से न पहुंचने पर आपकी भर्ती पर विचार नहीं किया जाएगा।

इंद्रा का आरोप है कि भर्ती में शिक्षा विभाग ने षड्यंत्र किया है। इसी वजह से कॉल लेटर देर से भेजा गया। कहा कि इसकी शिकायत उच्चाधिकारियों से करेंगी। डाकिया इकबाल ने बताया की पत्र रजिस्टर्ड डाक से चार तारीख को हमीरपुर से चला था और आठ को मौदहा आ है। कस्बे के करीब छह लोगों को देरी से कॉल लेटर मिले हैं।



Source link