रिकवरी के आदेश के बीच गांव में दोबारा सत्यापन


ख़बर सुनें

कदौरा। ब्लाक क्षेत्र कदौरा के अकबरपुर गांव में स्ट्रीट लाइट घपले में रिकवरी के आदेश के बाद भी उपनिदेशक पंचायत झांसी मंडल शनिवार को जांच करने पहुंचे। इस मामले में डीएम चांदनी सिंह की ओर से 23 जुलाई को रिकवरी और दोषियों पर कार्रवाई करने के आदेश जारी किए जा चुके हैं। उधर, सत्यापन करने के लिए दोबारा गांव पहुंचने और जिला स्तर के अधिकारियों द्वारा अभी तक कोई कार्रवाई न करने को लेकर कई तरह के सवाल उठ रहे हैं।
स्ट्रीट लाइट लगाने में घपले का खुलासा उपनिदेशक पंचायत झांसी मंडल की जांच में 12 जुलाई को हुआ था। इसमें 260 लाइटों की जगह 83 लाइट मिली थीं। उपनिदेशक पंचायत झांसी ने सत्यापन रिपोर्ट डीएम को सौंपी थी। डीएम ने 23 जुलाई को गबन में दोषी तत्कालीन प्रशासक मनोज कुमार गुप्ता एडीओ आईएसबी पर 3.39 लाख रुपये, ग्राम विकास अधिकारी नवीन कुमार से 1.96 लाख रुपये और ग्राम प्रधान रामशंकर से 57 हजार रुपये की रिकवरी करने के निर्देश दिए थे। दो सप्ताह बीतने के बाद भी अधिकारियों ने कोई कार्रवाई नहीं की। उपनिदेशक पंचायत झांसी संजय यादव ने अकबरपुर में दोबारा स्ट्रीट लाइटों का सत्यापन किया। दोबारा सत्यापन की की वजह क्या है, इस पर अधिकारी जवाब देने के लिए तैयार नहीं है। बीडीओ बृजकिशोर कुशवाहा का कहना है कि उपनिदेशक पंचायत झांसी द्वारा स्ट्रीट लाइटों का दोबारा सत्यापन किया गया है। अभी तक उनके पास कोई आदेश नहीं आया है। आदेश आते ही कार्रवाई की जाएगी।

कदौरा। ब्लाक क्षेत्र कदौरा के अकबरपुर गांव में स्ट्रीट लाइट घपले में रिकवरी के आदेश के बाद भी उपनिदेशक पंचायत झांसी मंडल शनिवार को जांच करने पहुंचे। इस मामले में डीएम चांदनी सिंह की ओर से 23 जुलाई को रिकवरी और दोषियों पर कार्रवाई करने के आदेश जारी किए जा चुके हैं। उधर, सत्यापन करने के लिए दोबारा गांव पहुंचने और जिला स्तर के अधिकारियों द्वारा अभी तक कोई कार्रवाई न करने को लेकर कई तरह के सवाल उठ रहे हैं।

स्ट्रीट लाइट लगाने में घपले का खुलासा उपनिदेशक पंचायत झांसी मंडल की जांच में 12 जुलाई को हुआ था। इसमें 260 लाइटों की जगह 83 लाइट मिली थीं। उपनिदेशक पंचायत झांसी ने सत्यापन रिपोर्ट डीएम को सौंपी थी। डीएम ने 23 जुलाई को गबन में दोषी तत्कालीन प्रशासक मनोज कुमार गुप्ता एडीओ आईएसबी पर 3.39 लाख रुपये, ग्राम विकास अधिकारी नवीन कुमार से 1.96 लाख रुपये और ग्राम प्रधान रामशंकर से 57 हजार रुपये की रिकवरी करने के निर्देश दिए थे। दो सप्ताह बीतने के बाद भी अधिकारियों ने कोई कार्रवाई नहीं की। उपनिदेशक पंचायत झांसी संजय यादव ने अकबरपुर में दोबारा स्ट्रीट लाइटों का सत्यापन किया। दोबारा सत्यापन की की वजह क्या है, इस पर अधिकारी जवाब देने के लिए तैयार नहीं है। बीडीओ बृजकिशोर कुशवाहा का कहना है कि उपनिदेशक पंचायत झांसी द्वारा स्ट्रीट लाइटों का दोबारा सत्यापन किया गया है। अभी तक उनके पास कोई आदेश नहीं आया है। आदेश आते ही कार्रवाई की जाएगी।



Source link