Hamara Kasba I Hindi News I Bundelkhand News

पुलिस और पूर्व प्रधान के बीच नोकझोंक के बाद हाथापाई, धरने पर प्रधान संघ के पदाधिकारी

ByNews Desk

Aug 15, 2022


ख़बर सुनें

दिबियापुर थाना क्षेत्र के लखनापुर में सोमवार शाम गांव के दो पक्षों में हुए विवाद के बाद पहुंची पुलिस से गांव के पूर्व प्रधान (वर्तमान प्रधान के पति )की नोकझोंक और हाथापाई हो गई। पूर्व प्रधान को पुलिस अपने साथ थाने ले आई। इसके बाद प्रधान संघ के पदाधिकारी थाने के बाहर जमा हो गए। सभी थाने के बाहर पूर्व प्रधान को छोड़े जाने की मांग को लेकर धरने पर बैठ गए। देर रात कई थानों की पुलिस और पीएसी जमा हो गई।

लखनापुर में एक दुकान पर पांच रुपये का सामान लेनदेन को लेकर विवाद और मारपीट हो गई। इसकी सूचना पर दिबियापुर थाने के इंस्पेक्टर जितेंद्र शर्मा पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। पुलिस दोनों पक्षों के एक व्यक्ति को लेकर थाने आने लगी। इस बीच पूर्व प्रधान सतीश राजपूत ने आरोप लगाया कि एक पक्ष ने पंचायत घर पर लगा राष्ट्रीय झंडा फाड़ दिया है। पूर्व प्रधान एक पक्ष को ही ले जाने का दबाव बनाने लगा। दोनों पक्षों को हिरासत में लेने पर पुलिस और प्रधान के पक्षों के बीच विवाद बढ़ गया।

पुलिस का दावा है कि पूर्व प्रधान ने इंस्पेक्टर की वर्दी फाड़ दी। इसके बाद पुलिस पूर्व प्रधान को थाने लेकर आने लगी तो मौके पर मौजूद ग्रामीणों ने पुलिस को रोकने का प्रयास किया। किसी प्रकार से पुलिस पूर्व प्रधान को गांव से लेकर चली आई। घटना की जानकारी पुलिस के आला अधिकारियों को मिली तो दिबियापुर थाने में सीओ सुरेंद्र नाथ समेत फफूंद, सहायल, एसओजी, पीएसी की टीम पहुंच गई। पुलिस ने पूर्व प्रधान समेत दोनों पक्षों के सात लोगों का चिकित्सकीय परीक्षण कराया है। 

सीओ सुरेंद्र नाथ के नेतृत्व में कई थानों की पुलिस ने गांव लखनपुर में जाकर गश्त की। जिले के ग्राम प्रधानों को घटना की जानकारी मिली तो प्रधान संघ के अध्यक्ष गुड्डू यादव के साथ कई गावों के प्रधान थाने में पहुंच गए। सीओ और थाने के इंस्पेक्टर से पूर्व प्रधान को छोड़े जाने की मांग की।

विस्तार

दिबियापुर थाना क्षेत्र के लखनापुर में सोमवार शाम गांव के दो पक्षों में हुए विवाद के बाद पहुंची पुलिस से गांव के पूर्व प्रधान (वर्तमान प्रधान के पति )की नोकझोंक और हाथापाई हो गई। पूर्व प्रधान को पुलिस अपने साथ थाने ले आई। इसके बाद प्रधान संघ के पदाधिकारी थाने के बाहर जमा हो गए। सभी थाने के बाहर पूर्व प्रधान को छोड़े जाने की मांग को लेकर धरने पर बैठ गए। देर रात कई थानों की पुलिस और पीएसी जमा हो गई।

लखनापुर में एक दुकान पर पांच रुपये का सामान लेनदेन को लेकर विवाद और मारपीट हो गई। इसकी सूचना पर दिबियापुर थाने के इंस्पेक्टर जितेंद्र शर्मा पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। पुलिस दोनों पक्षों के एक व्यक्ति को लेकर थाने आने लगी। इस बीच पूर्व प्रधान सतीश राजपूत ने आरोप लगाया कि एक पक्ष ने पंचायत घर पर लगा राष्ट्रीय झंडा फाड़ दिया है। पूर्व प्रधान एक पक्ष को ही ले जाने का दबाव बनाने लगा। दोनों पक्षों को हिरासत में लेने पर पुलिस और प्रधान के पक्षों के बीच विवाद बढ़ गया।

पुलिस का दावा है कि पूर्व प्रधान ने इंस्पेक्टर की वर्दी फाड़ दी। इसके बाद पुलिस पूर्व प्रधान को थाने लेकर आने लगी तो मौके पर मौजूद ग्रामीणों ने पुलिस को रोकने का प्रयास किया। किसी प्रकार से पुलिस पूर्व प्रधान को गांव से लेकर चली आई। घटना की जानकारी पुलिस के आला अधिकारियों को मिली तो दिबियापुर थाने में सीओ सुरेंद्र नाथ समेत फफूंद, सहायल, एसओजी, पीएसी की टीम पहुंच गई। पुलिस ने पूर्व प्रधान समेत दोनों पक्षों के सात लोगों का चिकित्सकीय परीक्षण कराया है। 

सीओ सुरेंद्र नाथ के नेतृत्व में कई थानों की पुलिस ने गांव लखनपुर में जाकर गश्त की। जिले के ग्राम प्रधानों को घटना की जानकारी मिली तो प्रधान संघ के अध्यक्ष गुड्डू यादव के साथ कई गावों के प्रधान थाने में पहुंच गए। सीओ और थाने के इंस्पेक्टर से पूर्व प्रधान को छोड़े जाने की मांग की।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.