मैदान से लेकर पहाड़ तक खनन का कारोबार, भंगेल में 50 से अधिक दुकानें, ये हैं त्यागी के सरपरस्त


सेक्टर-93बी ग्रैंड ओमेक्स सोसाइटी निवासी श्रीकांत त्यागी का खनन कारोबार पूर्वांचल से लेकर उत्तराखंड तक फैला है। बांदा-हमीरपुर में उसकी बालू की वैध के साथ अवैध खान भी चल रही हैं। उत्तराखंड में स्टोन क्रशर की अनुमति है, लेकिन इसकी आड़ में उसने कई क्रशर चला रखे हैं। इतना ही नहीं भंगेल में श्रीकांत की पचास से अधिक दुकानें हैं।

इन दोनों स्थानों से श्रीकांत को लाखों रुपये की कमाई हर माह होती है। हर साल श्रीकांत 20 से 25 लाख रुपये का टैक्स भी भरता है। सूत्रों का कहना है कि कई नेताओं की सरपरस्ती में श्रीकांत ने पूर्वांचल में अवैध खनन का भी काम शुरू किया था, जिसमें कुछ नेताओं का भी हिस्सा है। अवैध कमाई से श्रीकांत ने लखनऊ से लेकर नोएडा में कई फ्लैट लिए हैं। अवैध संपत्ति की जानकारी नोएडा पुलिस ने जुटा ली है। अब इन्हें जब्त करने की तैयारी चल रही है।

मोदी मिल वालों की कोठी पर कब्जा

मोदीनगर शहर मोदी मिल वालों के नाम पर बसाया गया था। यहां के सबसे बड़े कारोबारी मोदी ही थे, लेकिन श्रीकांत ने मोदी मिल के एक सदस्य की कई करोड़ रुपये की कोठी पर भी कब्जा कर रखा है। श्रीकांत की गिरफ्तारी के बाद पुलिस को इसकी जानकारी मिली है।

 

मोदीनगर में तलाश रहा था राजनीतिक जमीन

श्रीकांत बसपा कार्यकाल में त्यागी समाज का कोआर्डिनेटर था। मोदीनगर व आसपास के क्षेत्र में त्यागी समाज के लोग अधिक होने से श्रीकांत यहां राजनीतिक जमीन तलाश रहा था। इसके लिए उसने करोड़ों की कोठी खरीदने की भी अफवाह उड़ाई थी, लेकिन उसने कब्जा किया था। 

 

नोएडा से भागकर गया था नीलकंठ 

महिला से अभद्रता का वीडियो वायरल होने के बाद श्रीकांत पांच साथियों के साथ सबसे पहले नीलकंठ गया था। यहां दर्शन करने के बाद मेरठ आ गया, जबकि पुलिस को चकमा देने के लिए मोबाइल एक दोस्त को ऋषिकेश में सौंप दिया था। कुछ घंटे बाद उस फोन को बंद करवा दिया था। इसके बाद उसने दो मोबाइल और सिम खरीदे थे, जो बिना व्हाटसएप के चलाए जा रहे थे। पुलिस ऋषिकेश में चक्कर काट रही थी और त्यागी मेरठ में परिचित के पास रुका हुआ था।

 

श्रीकांत त्यागी की जमानत अर्जी पर 16 को होगी सुनवाई

नोएडा की ग्रैंड ओमेक्स सोसाइटी में महिला के साथ गाली-गलौज और अभद्र भाषा का प्रयोग करने वाले श्रीकांत त्यागी की जमानत याचिका पर बृहस्पतिवार को सुनवाई नहीं हो सकी। रक्षाबंधन होने की वजह बृहस्पतिवार को वकील ने कामकाज नहीं किया। अब जमानत अर्जी पर 16 अगस्त को सुनवाई होगी। आरोपी के अधिवक्ता सुशील भाटी ने बताया कि श्रीकांत व उसके सहयोगी राहुल, नकुल त्यागी व संजय की जमानत के लिए कोर्ट में याचिका दायर की है।  अधिवक्ता ने बताया कि थाना फेस-2 पुलिस ने धारा 420 के मुकदमे में केस डायरी कोर्ट में पेश नहीं की है। जिसमें अदालत ने जांच अधिकारी से विस्तृत रिपोर्ट मांगी है। इसके अलावा निचली अदालत ने अन्य मुकदमों में याचिका खारिज कर दी है। जिसके चलते बृहस्पतिवार को इन मुकदमों में भी जमानत के लिए सेशन कोर्ट में अर्जी डाली गई है। धारा 420 के मामले को छोड़कर अन्य मामलों में 16 अगस्त को सेशन कोर्ट में श्रीकांत व उसके अन्य साथियों की जमानत पर सुनवाई होगी।



Source link