पाकिस्तान के गृह मंत्री राणा सनाउल्लाह के खिलाफ पंजाब प्रांत में आतंकवाद का मामला दर्ज


ख़बर सुनें

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में पुलिस ने गुरुवार को पाकिस्तान के गृह मंत्री राणा सनाउल्लाह के खिलाफ आतंकवाद और “न्यायपालिका और सरकारी अधिकारियों को धमकी देने” के आरोप में मामला दर्ज किया है।

पंजाब प्रांत के मुख्यमंत्री परवेज इलाही के बेटे और पाकिस्तान के पूर्व संघीय मंत्री मूनिस इलाही ने इस मामले में अपनी प्रतिक्रिया देते हुए इसे ‘जैसे को तैसा’ वाला कदम बताया। उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान के खिलाफ शहबाज सरकार की “अवैध” कार्रवाइयों के जवाब में पंजाब सरकार द्वारा यह कदम उठाया गया।

मूनिस ने सनाउल्लाह के खिलाफ प्राथमिकी की एक प्रति के साथ ट्वीट किया, “आप (सनाउल्लाह) हमारे (पूर्व) प्रधानमंत्री इमरान खान के खिलाफ झूठे मामले दर्ज करते हैं। अब पाकिस्तान की जनता ने आपके खिलाफ असली मामला खड़ा कर दिया है। आपको जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।”

शिकायतकर्ता पंजाब प्रांत के गुजरात जिले का निवासी है। उसने कहा कि वह 21 अगस्त को जियो न्यूज पर एक टॉक शो देख रहा था, इस दौरान अप्रैल, 2021 और जनवरी, 2022 के सनाउल्लाह के भाषणों की क्लिप प्रसारित की गई थी। इन भाषणों में सनाउल्लाह को न्यायपालिका, पंजाब के मुख्य सचिव और लाहौर कमिश्नर और उनके बच्चों को धमकियां देते हुए दिखाया गया था। लाहौर से करीब 150 किलोमीटर दूर गुजरात शहर में गृह मंत्री के खिलाफ आतंकवाद निरोधी कानून की धारा सात के तहत मामला दर्ज किया गया है।

दिलचस्प बात यह है कि पिछले हफ्ते पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में एक रैली में एक अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश जेबा चौधरी और इस्लामाबाद पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों को धमकी देने के बाद सनाउल्लाह के आदेश पर इमरान खान पर आतंकवाद विरोधी अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया था। इस्लामाबाद की आतंकवाद निरोधी अदालत ने खान को इस मामले में एक सितंबर तक अंतरिम जमानत दे दी है। जुलाई में, पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने खान द्वारा समर्थित उम्मीदवार परवेज इलाही को पंजाब प्रांत का मुख्यमंत्री घोषित किया था।

गौरतलब है कि अप्रैल में इमरान सरकार की सरकार गिरने के बाद से ही पाकिस्तान में राजनीतिक सरगर्मियां तेज है। अपने निष्कासन के बाद से, खान पाकिस्तानी सेना और चुनाव आयोग सहित अन्य शक्तिशाली संस्थानों को निशाना बना रहे हैं। 

विस्तार

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में पुलिस ने गुरुवार को पाकिस्तान के गृह मंत्री राणा सनाउल्लाह के खिलाफ आतंकवाद और “न्यायपालिका और सरकारी अधिकारियों को धमकी देने” के आरोप में मामला दर्ज किया है।

पंजाब प्रांत के मुख्यमंत्री परवेज इलाही के बेटे और पाकिस्तान के पूर्व संघीय मंत्री मूनिस इलाही ने इस मामले में अपनी प्रतिक्रिया देते हुए इसे ‘जैसे को तैसा’ वाला कदम बताया। उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान के खिलाफ शहबाज सरकार की “अवैध” कार्रवाइयों के जवाब में पंजाब सरकार द्वारा यह कदम उठाया गया।


मूनिस ने सनाउल्लाह के खिलाफ प्राथमिकी की एक प्रति के साथ ट्वीट किया, “आप (सनाउल्लाह) हमारे (पूर्व) प्रधानमंत्री इमरान खान के खिलाफ झूठे मामले दर्ज करते हैं। अब पाकिस्तान की जनता ने आपके खिलाफ असली मामला खड़ा कर दिया है। आपको जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।”

शिकायतकर्ता पंजाब प्रांत के गुजरात जिले का निवासी है। उसने कहा कि वह 21 अगस्त को जियो न्यूज पर एक टॉक शो देख रहा था, इस दौरान अप्रैल, 2021 और जनवरी, 2022 के सनाउल्लाह के भाषणों की क्लिप प्रसारित की गई थी। इन भाषणों में सनाउल्लाह को न्यायपालिका, पंजाब के मुख्य सचिव और लाहौर कमिश्नर और उनके बच्चों को धमकियां देते हुए दिखाया गया था। लाहौर से करीब 150 किलोमीटर दूर गुजरात शहर में गृह मंत्री के खिलाफ आतंकवाद निरोधी कानून की धारा सात के तहत मामला दर्ज किया गया है।


दिलचस्प बात यह है कि पिछले हफ्ते पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में एक रैली में एक अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश जेबा चौधरी और इस्लामाबाद पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों को धमकी देने के बाद सनाउल्लाह के आदेश पर इमरान खान पर आतंकवाद विरोधी अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया था। इस्लामाबाद की आतंकवाद निरोधी अदालत ने खान को इस मामले में एक सितंबर तक अंतरिम जमानत दे दी है। जुलाई में, पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने खान द्वारा समर्थित उम्मीदवार परवेज इलाही को पंजाब प्रांत का मुख्यमंत्री घोषित किया था।

गौरतलब है कि अप्रैल में इमरान सरकार की सरकार गिरने के बाद से ही पाकिस्तान में राजनीतिक सरगर्मियां तेज है। अपने निष्कासन के बाद से, खान पाकिस्तानी सेना और चुनाव आयोग सहित अन्य शक्तिशाली संस्थानों को निशाना बना रहे हैं। 



Source link