प्रभारी मंत्री बोल- कुंभ से पहले शुरू हो जाएगा जलमार्ग, संगम पर चलेगा क्रूज,छह हेलीपोर्ट बनाने की तैयारी


ख़बर सुनें

प्रयागराज में लगने वाले महाकुंभ के पूर्व वाराणसी की तर्ज पर यहां भी क्रूज की सेवाएं उपलब्ध हो जाएंगी। इतना ही नहीं यहां जलमार्ग से यातायात का भी परिवहन शुरू होगा। यह कहना है प्रदेश के पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री एवं प्रयागराज मंडल के प्रभारी मंत्री जयवीर सिंह का। बृहस्पतिवार को सर्किट हाउस में ई-बसों के उद्घाटन के बाद उन्होंने कुंभ को लेकर पर्यटन विभाग की ओर से की जा रही तैयारियों का ब्योरा दिया।

पर्यटन मंत्री ने कहा, वर्ष 2025 में होने वाले महाकुंभ की तैयारियों में सरकार जुट गई है। इसके लिए 100 करोड़ का बजट भी जारी कर दिया गया है। संगम नगरी में जल्द ही हेलीपोर्ट की सुविधा उपलब्ध होगी। प्रदेश में योगी सरकार की ओर से कुल छह हेलीपोर्ट बनाए जाने हैं। इस वजह से कुंभ के पहले जल मार्ग से यातायात शुरू हो सकेगा। संगम पर कुंभ के पहले क्रूज की सेवा भी उपलब्ध होगी। वहीं गंगा एक्सप्रेस वे के बन जाने से संगम नगरी प्रयागराज की दिल्ली और अन्य शहरों से दूरी भी कम हो जाएगी।

प्रभारी मंत्री ने बताया कि फाफामऊ में गंगा नदी पर बने ब्रिटिश कालीन कर्जन पुल को पर्यटन विभाग ने धरोहर के रूप में लिया है। रेलवे ने इसे निष्प्रयोज्य घोषित कर दिया था। अब कर्जन पुल को पर्यटन विभाग की ओर से गंगा गैलरी और म्यूजियम के अतिरिक्त पर्यटक सुविधा केंद्र के रूप में भी विकसित किए जाने की योजना महाकुंभ के पहले आधुनिक तकनीक के आधार पर इसे पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र बनाया जाएगा।

2030 तक रिप्लेस किए जाएंगे सभी पुराने वाहन
ई-बसों को लेकर प्रभारी मंत्री ने कहा कि इलेक्ट्रिक और  सीएनजी बसों से प्रदूषण नहीं होता है। सरकार की मंशा है कि प्रदूषण को कम करने के लिए पुराने वाहनों को रिप्लेस किया जाए। यूपी की योगी सरकार 2030 तक सभी पुराने वाहनों को रिप्लेस करने की योजना पर काम कर रही है ताकि ऐसे वाहनों से फैलने वाले प्रदूषण को खत्म किया जा सके।

बाढ़ पीड़ितों को हर संभव मदद देगी सरकार
प्रयागराज में आई बाढ़ को लेकर प्रभारी मंत्री जयवीर सिंह ने कहा है कि राहत एवं बचाव कार्य के लिए एनडीआरएफ की टीम यहां आ चुकी है। एनडीआरएफ और पुलिस प्रशासन बाढ़ राहत के कार्य में जुटा है। बाढ़ को लेकर राहत और बचाव कार्य किए जा रहे हैं। जिला प्रशासन को बाढ़ प्रभावित लोगों की हर संभव मदद करने को कहा गया है।

विस्तार

प्रयागराज में लगने वाले महाकुंभ के पूर्व वाराणसी की तर्ज पर यहां भी क्रूज की सेवाएं उपलब्ध हो जाएंगी। इतना ही नहीं यहां जलमार्ग से यातायात का भी परिवहन शुरू होगा। यह कहना है प्रदेश के पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री एवं प्रयागराज मंडल के प्रभारी मंत्री जयवीर सिंह का। बृहस्पतिवार को सर्किट हाउस में ई-बसों के उद्घाटन के बाद उन्होंने कुंभ को लेकर पर्यटन विभाग की ओर से की जा रही तैयारियों का ब्योरा दिया।

पर्यटन मंत्री ने कहा, वर्ष 2025 में होने वाले महाकुंभ की तैयारियों में सरकार जुट गई है। इसके लिए 100 करोड़ का बजट भी जारी कर दिया गया है। संगम नगरी में जल्द ही हेलीपोर्ट की सुविधा उपलब्ध होगी। प्रदेश में योगी सरकार की ओर से कुल छह हेलीपोर्ट बनाए जाने हैं। इस वजह से कुंभ के पहले जल मार्ग से यातायात शुरू हो सकेगा। संगम पर कुंभ के पहले क्रूज की सेवा भी उपलब्ध होगी। वहीं गंगा एक्सप्रेस वे के बन जाने से संगम नगरी प्रयागराज की दिल्ली और अन्य शहरों से दूरी भी कम हो जाएगी।



Source link