Hamara Kasba I Hindi News I Bundelkhand News

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जाना चोटिल संकेत सरगर का हाल, रिकवरी के लिए जाएंगे अमेरिका

ByNews Desk

Aug 15, 2022


ख़बर सुनें

बर्मिंघम में वजन उठाने के दौरान बुरी तरह चोटिल हो गए भारोत्तोलक संकेत सर्गर के आश्चर्य की उस वक्त कोई सीमा नहीं रही, जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके पास आकर उनकी चोट का हाल लिया। संकेत कहते हैं कि उन्हें विश्वास नहीं हो रहा था कि पीएम ने जब उनसे कहा कि उन्हें घबराने की जरूरत नहीं है। वह अधिकारियों को आदेश देंगे कि तब तक उनका ख्याल रखा जाए, जब तक वह पूरी तरह ठीक नहीं हो जाते हैं।

प्रधानमंत्री से मुलाकात के बाद संकेत अभी पीएम आवास से बाहर आए ही थे कि उन्हें साई से सूचना मिली की वह अपनी कोहनी की रिकवरी के लिए अमेरिका जा रहे हैं, जहां उनका इलाज डॉ. आरोन हार्शिग करेंगे, जिन्होंने टोक्यो ओलंपिक से पहले मीराबाई चानू को ठीक किया था।

पीएम ने कहा- जब तक ठीक नहीं हो जाते तब तक खेल नहीं शुरू करना
संकेत के मुताबिक पीएम ने उनसे पूछा कि सर्जरी के बाद उन्हें और क्या परेशानियां आ रही हैं। संकेत कहते हैं कि उन्हें पीएम की सबसे अच्छी बात यह लगी, जब उन्होंने उनसे कहा कि जब तक वह पूरी ठीक नहीं हो जाते हैं तब तक खेल को शुरू नहीं करें। पूरी तरह रिकवरी होने के बाद ही खेल आरंभ करें। वह हैरान थे कि प्रधानमंत्री होकर भी वह उनकी छोटी से छोटी बात का ख्याल रख रहे थे।

संकेत 25 अगस्त को जाएंगे अमेरिका
संकेत का बीते सप्ताह ही जाने माने कोहनी चोट विशेषज्ञ डॉ. अली नूरानी ने ऑपरेशन किया। साई ने 30 लाख रुपये उनके ऑपरेशन के लिए आनन-फानन में जारी किए थे। वह लंदन में उनके अस्पताल में तीन दिन दाखिल रहे। रविवार को मुंबई में डॉ. अली ने मुंबई के एक अस्पताल में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये उनके टांके खुलवाए। उनकी रिकवरी पूरी तरह ठीक हो। 

इसके लिए उन्हें 25 अगस्त को तीन सप्ताह के लिए सेंट लुई (अमेरिका) डॉ. आरोन हार्शिग के पास भेजा जा रहा है। उनके साथ सात अन्य वेटलिफ्टर मीराबाई चानू, झिल्ली डालबेहरा, बिंदिया रानी, जेरमी लालरिनुनगा, अचिंता शेउली, आरवी राहुल, गुरदीप सिंह कोच विजय शर्मा के साथ जा रहे हैं।

संकेत की कोहनी का आपरेशन डॉ. अली से कराने की सलाह फीजियो हीथ मैथ्यूज और डॉ. आरोन हार्शिग ने ही दी थी। डॉ. हार्शिग ने भारोत्तोलन संघ, साई को भरोसा दिलाया है कि वह संकेत की कोहनी को पहले जैसी हालत में लाने की पूरी कोशिश करेंगे।

विस्तार

बर्मिंघम में वजन उठाने के दौरान बुरी तरह चोटिल हो गए भारोत्तोलक संकेत सर्गर के आश्चर्य की उस वक्त कोई सीमा नहीं रही, जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके पास आकर उनकी चोट का हाल लिया। संकेत कहते हैं कि उन्हें विश्वास नहीं हो रहा था कि पीएम ने जब उनसे कहा कि उन्हें घबराने की जरूरत नहीं है। वह अधिकारियों को आदेश देंगे कि तब तक उनका ख्याल रखा जाए, जब तक वह पूरी तरह ठीक नहीं हो जाते हैं।

प्रधानमंत्री से मुलाकात के बाद संकेत अभी पीएम आवास से बाहर आए ही थे कि उन्हें साई से सूचना मिली की वह अपनी कोहनी की रिकवरी के लिए अमेरिका जा रहे हैं, जहां उनका इलाज डॉ. आरोन हार्शिग करेंगे, जिन्होंने टोक्यो ओलंपिक से पहले मीराबाई चानू को ठीक किया था।

पीएम ने कहा- जब तक ठीक नहीं हो जाते तब तक खेल नहीं शुरू करना

संकेत के मुताबिक पीएम ने उनसे पूछा कि सर्जरी के बाद उन्हें और क्या परेशानियां आ रही हैं। संकेत कहते हैं कि उन्हें पीएम की सबसे अच्छी बात यह लगी, जब उन्होंने उनसे कहा कि जब तक वह पूरी ठीक नहीं हो जाते हैं तब तक खेल को शुरू नहीं करें। पूरी तरह रिकवरी होने के बाद ही खेल आरंभ करें। वह हैरान थे कि प्रधानमंत्री होकर भी वह उनकी छोटी से छोटी बात का ख्याल रख रहे थे।

संकेत 25 अगस्त को जाएंगे अमेरिका

संकेत का बीते सप्ताह ही जाने माने कोहनी चोट विशेषज्ञ डॉ. अली नूरानी ने ऑपरेशन किया। साई ने 30 लाख रुपये उनके ऑपरेशन के लिए आनन-फानन में जारी किए थे। वह लंदन में उनके अस्पताल में तीन दिन दाखिल रहे। रविवार को मुंबई में डॉ. अली ने मुंबई के एक अस्पताल में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये उनके टांके खुलवाए। उनकी रिकवरी पूरी तरह ठीक हो। 

इसके लिए उन्हें 25 अगस्त को तीन सप्ताह के लिए सेंट लुई (अमेरिका) डॉ. आरोन हार्शिग के पास भेजा जा रहा है। उनके साथ सात अन्य वेटलिफ्टर मीराबाई चानू, झिल्ली डालबेहरा, बिंदिया रानी, जेरमी लालरिनुनगा, अचिंता शेउली, आरवी राहुल, गुरदीप सिंह कोच विजय शर्मा के साथ जा रहे हैं।

संकेत की कोहनी का आपरेशन डॉ. अली से कराने की सलाह फीजियो हीथ मैथ्यूज और डॉ. आरोन हार्शिग ने ही दी थी। डॉ. हार्शिग ने भारोत्तोलन संघ, साई को भरोसा दिलाया है कि वह संकेत की कोहनी को पहले जैसी हालत में लाने की पूरी कोशिश करेंगे।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.